डलहौज़ी हलचल (धर्मशाला) :- राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं अस्पताल टाण्डा के उपचाराधीन वन मंत्री गोविन्द्र सिंह ठाकुर से मुलाकात की और उनका कुशलक्षेम जाना। इस अवसर पर राज्यपाल ने आयुर्विज्ञान महाविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत करते हुए कहा कि इस संस्थान में कर्मचारियों एवं अधोसंरचना की कमी के बावजूद भी चिकित्सक और गैर चिकित्सक कर्मचारी मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवा रहे है, जोकि अत्यन्त सराहनीय है। उन्होंने कहा कि उन्होंने अनुभव किया है कि प्रदेश के लोग सरकारी अस्पतालों में उपचार करवाने में अधिक विश्वास रखते हंै, जो यहां के डाॅक्टरों की सेवा तथा मानवता के प्रति समर्पण को दर्शाता है।

उन्होंने प्रसन्नता जताई कि देश के 600 चिकित्सा संस्थानों में यह संस्थान 31वें स्थान पर है, जो उत्तर भारत में प्रथम स्थान पर है। उन्होंने कहा कि रोगियांे में डाक्टरों के प्रति विश्वास की भावना पैदा करना जरूरी है। उन्होंने अस्पताल परिसर में स्वच्छता अभियान को चलाने और इससे सम्बन्धित होर्डिंग लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल में योग गतिविधियों को बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

इससे पूर्व, राज्यपाल ने अस्पताल के विभिन्न वार्डों में जाकर रोगियों से बातचीत की। डाक्टरों ने राज्यपाल को अपनी समस्याओं और मांगों के बारे अवगत करवाया। मेडिकल काॅलेज टाण्डा के प्रधानाचार्य डाॅ. भानू अवस्थी ने इस संस्थान की अधोसंरचना तथा चल रही विकासात्मक परियोजना की स्थिति से अवगत कराया।