Top
हिमाचल

स्वच्छता सर्वेक्षण की ओवरऑल रैंकिंग में हिमाचल ने बनाया टॉप टेन में स्थान

ManMahesh
21 Aug 2020 4:21 AM GMT
स्वच्छता सर्वेक्षण की ओवरऑल रैंकिंग में हिमाचल ने बनाया टॉप टेन में स्थान
x
स्वच्छता सर्वेक्षण की ओवरऑल रैंकिंग में 15 राज्यों में हिमाचल प्रदेश 1124.77 अंकों के साथ छठे नंबर पर आया है।

डलहौज़ी हलचल (शिमला): गुरुवार को जारी स्वच्छ सर्वेक्षण लिस्ट में शीर्ष स्थान हासिल करने वाले शहरों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है। आज पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए 'स्वच्छ सर्वेक्षण- 2020' के परिणाम घोषित किए थे। इसमें मध्य प्रदेश का इंदौर शहर लगातार चौथी बार पहले पायदान पर है। गुजरात का सूरत दूसरे और महाराष्ट्र का नवी मुंबई तीसरे पायदान पर है। इस साल स्वच्छता सर्वेक्षण में वाराणसी को गंगा किनारे बसे शहरों की सूची में सबसे साफ सुथरा घोषित किया गया। शाहजहांपुर को जनसहभागिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया। राष्ट्रीय स्तर पर कराए गए 'स्वच्छ सर्वेक्षण-2020' की बड़े शहरों की राष्ट्रीय सूची में उत्तर प्रदेश के सात शहरों ने अपनी जगह बनाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, "उन सभी शहरों को बधाई, जिन्होंने स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में शीर्ष स्थान हासिल किया है। अन्य शहरों को भी स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए अपने प्रयासों को और तेज करने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए। इस तरह की प्रतिस्पर्धात्मक भावना से स्वच्छ भारत मिशन मजबूत होता है और लाखों लोगों को लाभ होता है।"

वहीँ स्वच्छता सर्वेक्षण की ओवरऑल रैंकिंग में 15 राज्यों में हिमाचल प्रदेश 1124.77 अंकों के साथ छठे नंबर पर आया है। पिछले साल सभी राज्यों को एक ही श्रेणी में रखा गया था और स्वच्छता रैंकिंग में हिमाचल 20वें नंबर पर था। राष्ट्रीय स्तर पर शहरों की स्वच्छता के लिए दो श्रेणियों में से एक लाख से दस लाख तक की जनसंख्या वाले शहरों में शिमला 65वें स्थान पर रहा। पिछले साल यह 128वें स्थान पर रहा था।

हिमाचल समेत 15 राज्य उस श्रेणी में शामिल थे, जहां सौ से कम शहरी निकाय (यूएलबी) हैं। सौ से अधिक यूएलबी वाले प्रदेशों को दूसरे श्रेणी में रखा गया। हिमाचल की श्रेणी में झारखंड 2325.42 अंकों के साथ पहले, हरियाणा 1678.84 के साथ दूसरे, उत्तराखंड 1230 अंकों के साथ तीसरे, सिक्किम 1222.88 के साथ चौथे, असम 1217.78 अंकों के साथ पांचवें और हिमाचल छठे स्थान पर आया है।

सैन्य छावनी शहरों में स्वच्छता सर्वेक्षण में पहली 20 सैन्य छावनियों में जालंधर कैंट 3670 अंक के साथ पहले, दिल्ली दूसरे और मेरठ तीसरे स्थान पर रहा। हिमाचल का डलहौजी कैंट 2919 अंकों के साथ नौवें और जतोग कैंट 2611 अंकों के साथ 18वें स्थान पर रहा।

गत वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण में कैंट बोर्ड डलहौजी का स्थान देशभर में दसवां था। विगत वर्षो में कैंट बोर्ड क्षेत्र में स्वच्छता को लेकर व्यापक प्रबंध किए गए हैं जिसके तहत छावनी क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर गीले व सूखे कचरे के लिए अलग-अलग डस्टबिन स्थापित किए हैं जबकि कचरे के उचित निपटारे की भी पूर्ण व्यवस्था है।

उत्तरी क्षेत्र स्वच्छता सर्वेक्षण में 25 से 50 हजार की जनसंख्या के लिए 191 शहरों में हिमाचल के पांच शहर शामिल हुए हैं। इनमें नाहन 147वें, सोलन 159वें, मंडी 172वें, बद्दी 185वें और पांवटा साहिब 187वें स्थान पर रहा। 25 हजार तक की जनसंख्या वाले शहरों में श्रीनयना देवी जी 397वें नंबर पर आया है। स्वच्छता में मनाली को कांगड़ा ने पछाड़ा है। कांगड़ा 459वें, मनाली 477वें, ज्वालाजी 490वें, शाहतलाई 499वें स्थान पर रहा। हिमाचल के सात शहर 500 से 600वें स्थान पर रहे। बैजनाथ 720वें स्थान पर अंत में आया है।


Next Story