Top
नाहन

एकीकृत विकास परियोजना के अनुबंध एवं दैनिक बेतनभोगी कर्मचारियों ने की कलम बंद हड़ताल

27 July 2020 4:03 AM GMT
एकीकृत विकास परियोजना के अनुबंध एवं दैनिक बेतनभोगी कर्मचारियों ने की कलम बंद हड़ताल
x

बित्तीय लाभ न मिलने एवं नियमितीकरण के लिए अधिकारियों की टालमटोल एवं सरकार की दोहरी नीति के विरोध में एकीकृत विकास परियोजना नाहन के अनुबंध एवं दैनिक बेतनभोगी कर्मचारियों ने आज शान्तिपूर्ण तरीके से कलम बंद हड़ताल करी ।

सूत्रों के मुताविक मौजूद कर्मचारियों ने सरकार एवं विभाग के उच्च अधिकारियों पर टालमटोल का आरोप लगाते हुए बताया की सरकार द्वारा 19.04.2017 को एक अधिसूचना जारी की गई जिसमें कहा गया था कि हिमाचल प्रदेश मध्य हिमालयन जलागम विकास परियोजना , स्वां परियोजना , कंडी परियोजना आदि के समस्त दैनिक बेतनभोगी और अनुबंधित कर्मचारियों के लिए सरकार द्वारा नियमितीकरण हेतु पालिसी बनायीं गयी थी ,परन्तु आज लगभग 3 बर्ष बीतने के बाद भी कर्मचारियों को उस अधिसूचना के आधार पर कोई भी बित्तिय लाभ नहीं दिया गया एवं नियमित भी नही किया गया ।

मौजूद कर्मचारियों ने बताया की इस बारे में उन्होंने समय-समय पर मुख्यमंत्री महोदय वन मंत्री महोदय, तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष महोदय,एवं विभाग के उच्च अधिकारियों आदि को कई बार मौखिक एवं लिखित रूप में अवगत करा दिया था परन्तु अधिकारियों की टालमटोल के कारण अभी तक इन्हें कोई भी लाभ नही दिया गया है जिस कारण इस महंगाई के दौर मे इनको अपने परिवार का पालन पोषण करना भी मुश्किल हो रहा है ।

नाहन इकाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान मान सिंह ने बताया की नियमितीकरण के लिए सरकार की इस दोहरी नीति के विरोध में एवं अधिकारी द्वारा कर्मचारियों को बित्तीय लाभ न देने के विरोध में आज प्रदेश के समस्त जिलों में शान्ति पूर्ण तरीके से कलम बंद हड़ताल आयोजित की गई है।

उन्होंने सरकार से मांग की कि शीघ्र अतिशीघ्र सरकार उनके वित्तीय लाभों को जारी करे एवं उन्हें नियमित करे । उन्होंने मांगे न माने जाने पर सरकार को चेताया है की आज की गयी हड़ताल प्रशासन व हिमाचल प्रदेश सरकार के लिए सूचना मात्र है अगर उनकी मांगे न मानी गयी तो भविष्य में लंबे समय के लिए भी ये हड़ताल की जा सकती है ।

जानकारी देते हुए मान सिंह ने बताया की नाहन इकाई में 17 के करीब कर्मचारी थे जिसमें से एक सेवानिवृत्त हो गए एवं एक का देहांत हो गया और एक आर्थिक तंगी के कारण नौकरी छोड़ गया अब वह मजदूरी कर रहा है । वाकी बचे तेरह कर्मचारी लंबे समय से परियोजना में कार्यरत है और अपने वितीय लाभ का इंतज़ार कर रहे है । उन्होंने सरकार से मांग की है की शीघ्र अतिशीघ्र कर्मचारियों को लाभ दिए जाए जिससे की वे अपने परिवार का पालन पोषण अच्छे तरीके से कर सके ।

इस मौके पर मानसिंह के साथ दिनेश कुमार , कमलेश, रीना शर्मा, लोकेंदर, हुकमी राम ,प्रदीप कुमार, मुकेश, सतपाल आदि मौजूद रहे ।

Next Story