Top
नाहन

कर्फ्यू के दौरान निराश्रित पशु पक्षियों के प्रति दिखाएं दया भाव - डॉ परुथी

https://www.dalhousiehulchul.com/uploads/1586176915.jpg
7 April 2020 3:16 AM GMT
कर्फ्यू के दौरान निराश्रित पशु पक्षियों के प्रति दिखाएं दया भाव - डॉ परुथी
x

उपायुक्त सिरमौर डा. आर.के.परूथी ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा है कि आपदा की इस स्तिथि के दौरान हमें मूक एवं निराश्रित पशु-पक्षियों के प्रति दया भाव दिखाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा है कि संकट के इस समय हर जिलावासी को एक या दो रोटी अतिरिक्त बनाकर अपने घरों के आसपास भोजन की तलाश में घूम रहे पशु-पक्षियों को खिलानी चाहिए ताकि इन बेसहारा पशु-पक्षियों को भी भोजन प्राप्त हो सके। इसके अतिरिक्त, लोग अपने घरों के आसपास व छतों के ऊपर बर्तनों में पानी रखें जिससे पशु-पक्षियों को पीने के लिए पानी भी मिल सके।

उन्होंने बताया कि कर्फ्यू के दौरान पशुधन से संबंधित आवश्यक सेवा सहायता के लिए उपनिदेशक पशुपालन विभाग सिरमौर डॉ. लाल गोपाल के मोबाइल नंबर 83518-35875, सहायक निदेशक डॉ. नीरू शबनम मोबाइल नंबर 94180-59666, डॉ. नवीन कुमार सिंह सहायक निदेशक प्रोजेक्ट 94181-00065, सहायक निदेशक पोल्ट्री डॉ राजीव खुराना के मोबाइल नंबर 94180-87707 पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, पशु चारे से संबंधित परमिट के लिए इन नंबरों पर संपर्क कर सकते है तथा परमिट ईमेल और व्हाट्सएप के माध्यम से दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि उपमंडल स्तर पर पशुधन से सम्बंधित सहायता के लिए शिलाई उपमंडल में वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजीव वालिया के मोबाइल नंबर 98166-52000, उपमंडल नाहन के वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. अक्षय कुमार के मोबाइल नंबर 809178-1356, उपमंडल राजगढ़ के वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. मांचली वर्मा के मोबाइल नंबर 94182-11500, उपमंडल पावटा साहिब के वरिष्ठ पशु चिकित्सक अधिकारी डॉ. ललित अजमानी के मोबाइल नंबर 94181-17673, उपमंडल संगड़ाह के पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. अमित वर्मा के मोबाइल नंबर 94186-76793 व वेटरनरी पॉलीक्लिनिक नाहन के पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ अंकुर गुप्ता के मोबाइल नंबर 94180-61954 पर भी संपर्क कर सकते हैं

उन्होंने बताया कि जानवरों के बीमार होने की स्थिति में संबंधित उपमंडल के पशु चिकित्सक को व्हाट्सएप पर वीडियो भेजकर बीमार जानवर के लिए दवाइयों की जानकारी ले सकते हैं और अधिक आवश्यकता पड़ने पर पशु चिकित्सक को बुलाने के लिए फोन पर समय ले सकते हैं। आवश्यकता के अनुसार पशु चिकित्सक आपातकालीन सेवा पशु औषधालय या घर पर मुहैया कराएंगे। इसके अतिरिक्त, आपातकालीन स्थिति में छोटे पशुओं को पशु औषधालय में ले जाने की स्थिति में केवल एक व्यक्ति को ही इजाजत होगी।

आवारा कुत्तों से संबंधित देखरेख के लिए एसपीसीए नाहन व एसपीसीए राजगढ़ के संबंधित पशु चिकित्सकों से संपर्क किया जा सकता है।

Next Story