Top
शिमला

खुलेंगे शराब के ठेके, टूरिज्म इंडस्ट्री की इलेक्ट्रिसिटी डिमांड छह माह के लिए माफ की गई

2 May 2020 5:30 AM GMT
खुलेंगे शराब के ठेके, टूरिज्म इंडस्ट्री की इलेक्ट्रिसिटी डिमांड छह माह के लिए माफ की गई
x

हिमाचल कैबिनेट की बैठक शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम की अध्यक्षता में शिमला में आयोजित हुई। बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए है। बैठक में लॉकडाउन के बीच शराब की दुकानों को खोलने का निर्णय लिया है। केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों पर ऐसा किया है। शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में आर्थिक सुधारों को लेकर रणनीति बनाई गई। पुरानी एक्साइज पॉलिसी 31 मई तक जारी रहेगी। पहली जून से नई पॉलिसी लागू होगी।

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसलों के बारे में मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शराब के ठेके खुलेंगे, क्योंकि प्रदेश में कोई भी जिला रेड जोन में नहीं है। सूबे के छह जिले ग्रीन और छह जिले ऑरेंज जोन में हैं।

कैबिनेट की बैठक में शनिवार को मुख्य रूप से तीन मुद्दों पर चर्चा की गई। पहला टास्क फोर्स को लेकर, दूसरा स्वास्थ्य और तीसरा डिजास्टर मैनेजमेंट को लेकर था। उन्होंने बताया कि आबकारी नीति में 2019-20 की पॉलिसी 31 मई तक रहेगी। साल 2020-21 की पॉलिसी जून से लागू होगी। 22 मार्च के बाद से जब तक शराब के ठेके बंद रहेंगे, तब तक की एक्साइज की फीस भी माफ कर दी गई है। इसके अलावा, टोल पॉलिसी भी 31 मई तक चलेगी और नई पॉलिसी एक जून से शुरू होगी। सूबे के सबसे बड़े अस्पताल आईजीएमसी शिमला में एक पद सृजित करने का भी फैसला लिया गया।

हिमाचल प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां शुरू करने के लिए कैबिनेट सब कमेटी बनाई गई है, शहरी क्षेत्रों के लिए भी बैठक में कुछ फैसले हुए हैं। इसके अलावा अंशकालीन कर्मचारी आठ साल के सेवाकाल के बाद नियमित होंगे। सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के तहत एक लाख से अधिक मजदूरों को मासिक 2 हजार के हिसाब से 20 करोड़ का भुगतान सरकार कर चुकी है। आने वाले समय में इन मजदूरों को 2 हजार रुपये दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री शहरी रोजगार गारंटी योजना के तहत 120 दिन का रोजगार प्रदान किया जाएगा। टूरिज्म इंडस्ट्री की 15 करोड़ रुपये इलेक्ट्रिसिटी डिमांड छह माह के लिए माफ की गई है। कैबिनेट सब कमेटी में जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर को अध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा, कैबिनेट मंत्री सुरेश भारद्वाज, गोविंद ठाकुर और बिक्रम सिंह ठाकुर इसमें सदस्य बनाए गए हैं। यह कमेटी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए मुख्यमंत्री को सुझाव देगी।

Next Story