Top
नाहन

गन्दगी मुक्त भारत अभियान के दौरान जिला में 6000 से अधिक पौधे किए जाएंगे रोपित

6 Aug 2020 5:58 AM GMT
गन्दगी मुक्त भारत अभियान के दौरान जिला में 6000 से अधिक पौधे किए जाएंगे रोपित
x

जिला सिरमौर में 8 से 15 अगस्त, 2020 तक स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत सप्ताह भर गन्दगी मुक्त भारत अभियान चलाया जाएगा।

यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर डॉ.आर.के.परूथी ने उपायुक्त कार्यालय के सभागार में जिला ग्रामीण विकास अभिकरण द्वारा गन्दगी मुक्त भारत अभियान के तहत सप्ताह भर आयोजित किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की रूपरेखा पर चर्चा के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

गन्दगी मुक्त अभियान के प्रथम दिन जिला के 228 ग्राम पंचायतों के प्रधानों के साथ ई-रात्री चौपाल कार्यक्रम के तहत उपायुक्त सिरमौर ऑनलाइन माध्यम द्वारा सभी पंचायतों को गंदगी मुक्त करने के लिए चर्चा में भाग लेगे। 9 अगस्त को जिला मंे सिंगल यूज प्लास्टिक के पॉलीब्रिक्स बनाकर निष्पादन करने के लिए अभियान चलाया जाएगा । 10 अगस्त को स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिला के सभी कार्यालयों में श्रमदान के माध्यम से स्वच्छता कार्यक्रम चलाया जाएगा। 11 अगस्त को जिला के सभी पंचायतों में शिक्षा विभाग के माध्यम से दीवार पेंटिंग बनाकर लोगों को स्वच्छता के बारे में जागरूक किया जाएगा। 12 अगस्त के दिन जिला की सभी पंचायतों में श्रमदान द्वारा 6000 से अधिक पौधों का रोपण किया जाएगा। 13 अगस्त को जिला सिरमौर में गन्दगी मुक्त मेरा गांव थीम के अंतर्गत ऑनलाइन पेंटिग प्रतियोगिता आयोजित कि जाएगी जिसमें 6-8वीं कक्षा के बच्चे भाग लेंगे और गंदगी मुक्त मेरा गांव थीम के अतंर्गत निबंध प्रतियोगिता में 9-12वीं कक्षा के बच्चे भाग लेंगे तथा इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य स्वच्छता के प्रति बच्चों मंे जागरूकता पैदा करना है। इस प्रतियोगिता में प्रथम तीन स्थान हासिल करने वाले बच्चों को स्वतंत्रता दिवस समारोह में पुरस्कृत किया जाएगा।

इसी तरह 14 अगस्त को जिला सिरमौर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से सफाई व स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के अंतिम दिन 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गांव को शौच मुक्त करवाने के लिए स्वच्छता शपथ दिलाई जाएगी ।

उपायुक्त सिरमौर ने सभी जिला वासियों से इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अपना सहयोग देने की अपील कि है ताकि गांव को साफ-सुथरा बनाया जा सके।

Next Story