Top
चंबा

चमीणू में पारंपरिक खेलों का आयोजन, युवाओं ने खेले पारंपरिक खेल

31 July 2020 6:33 AM GMT
चमीणू में पारंपरिक खेलों का आयोजन, युवाओं ने खेले पारंपरिक खेल
x

मिंजर मेले के उपलक्ष्य में चंबा री डिस्कवर संस्था द्वारा शुक्रवार को चंबा मुख्यालय के समीप चमीणू में पारंपरिक खेलों का आयोजन किया । खेलों के आगाज पर हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड के सदस्य एवं चंबा कॉलेज के प्राचार्य डॉ शिव दयाल मुख्यातिथि के रूप में मौजूद रहे। इस दौरान ब्राग गिट्टी, चानण चप्पा, पिठ्ठू गरम, चोपड़, कोडी, नौ गिटड़ा, दोडे की गुत्थी, पैसे की गुत्थी, अखरोट की गुत्थी, गाटे, बजिक गिल्ली डंडा, गुलेल से निशाना, हुडू, ज्ञान चौपड़ आदि पुराने खेल आयोजित हुए। इन खेलों का युवाओं ने काफी लुत्फ उठाया।

युवाओं ने बताया कि उन्हें पुराने जमाने में खेले जाने वाले खेलों को खेलने के काफी आनंद आया। जब उन्होंने एक बार खेल खेलना शुरू किया तो उसके बाद उन्हें समय का पता ही नहीं चला। उन्होंने चंबा री डिस्कवर संस्था के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि यह काफी अनूठी पहल है। इस तरह के आयोजन भविष्य में भी होने चाहिए।

वहीं, चंबा री डिस्कवर संस्था के संयोजक मनुज शर्मा ने कहा कि संस्था का मुख्य उद्देश्य पारंपरिक खेलों सहित पुराने जमाने में आयोजित होने वाली विभिन्न गतिविधियों से युवा पीढ़ी को अवगत करवाना है, ताकि युवा पीढ़ी को अपने अतीत के बारे में जानकारी हो सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में अधिकतर बच्चे व युवा मोबाइल के माध्यम से ही खेलों का आनंद उठाते हैं। इसमें उनकी कोई भी हलचल नहीं होती है। जबकि, पुराने जमाने में खेले जाने वाले खेलों में शारीरिक व मानसिक कसरत भी हो जाया करती थी। इसलिए चंबा री डिस्कवर द्वारा पुराने जमाने में खेले जाने वाले खेलों का आयोजन किया गया।

Next Story

हमीरपुर