Top
शिमला

जमात में शामिल लोग शाम पांच बजे तक सामने आएं नहीं तो हत्या का केस दर्ज होगा

5 April 2020 1:19 AM GMT
जमात में शामिल लोग शाम पांच बजे तक सामने आएं नहीं तो हत्या का केस दर्ज होगा
x

हिमाचल प्रदेश पुलिस प्रमुख ने प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लीगो और अन्य विभिन्न जानकारियां दी। उन्होंने ऐसे लोगो को चेतावनी दी है कि जिन्होंने 5 बजे तक प्रशासन को ट्रेवल हिस्ट्री की जानकारी नहीं दी, तो डिसास्टर मैनेजमेंट एक्ट के अलावा आईपीसी की धारा 307 और 302 के तहत ऐसे लोगो के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। डीजीपी ने एक वीडियो बयान जारी कर यह चेतावनी वाला अल्टीमेटम जारी किया है।

दरअसल, दिल्ली स्थित मरकज से हिमाचल समेत देशभर में गए लोगों में से बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। हिमाचल में ही अब तक तब्लीग से जुड़े छह लोगों में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से किसी ने भी पुलिस या प्रशासन से संपर्क नहीं किया था और पुलिस ने ही इन्हें ढूंढ निकाला। इनमें बीमारी के लक्षण मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनके सैंपल लिए थे।

पुलिस अब तक जानकारी छिपाने पर आपदा प्रबंधन एक्ट की धाराओं में 85 लोगों के खिलाफ 17 मामले भी दर्ज कर चुकी है। लेकिन अभी भी लोग खुद सामने आकर जानकारी नहीं दे रहे हैं। लोगों की इसी बड़ी लापरवाही के बाद डीजीपी ने कहा है कि शाम पांच बजे के बाद पुलिस ने जिसे भी ढूंढ निकाला और वह कोरोना संक्रमित मिला तो उसके खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा में मामला दर्ज किया जाएगा। डीजीपी ने कहा कि लोगों को लगातार आगाह किया जा रहा है कि वह खुद अपनी जानकारी दें।

ऐसे में वह जानबूझकर जानकारी छिपा रहे हैं जिससे अन्य लोगों की जान को खतरा हो रहा है। ऐसे में अब आपदा प्रबंधन एक्ट के साथ-साथ आईपीसी की धारा 307 व 302 के तहत भी मामले दर्ज किए जाएंगे। बता दें कि पुलिस अब तक प्रदेश में 250 से ज्यादा जमातियों को चिह्नित कर क्वारंटीन करा चुकी है। इसके बाद भी करीब 250 और जमातियों के प्रदेश में होने की संभावना है।

Next Story