Top
कुल्लू

डीसी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग में ग्रामीणों से की सीधी बात

4 Jun 2020 5:36 AM GMT
डीसी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग में ग्रामीणों से की सीधी बात
x

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में क्वारंटीन पर रखे गए लोगों की जानकारी लेने तथा आम लोगों को क्वारंटीन के नियमों से अवगत करवाने के लिए उपायुक्त डाॅ. ऋचा वर्मा ने वीरवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से जुड़कर सीधी बात की।

आम लोगों के साथ किए गए इस संवाद के दौरान उपायुक्त ने विभिन्न गांवों में क्वारंटीन पर रखे गए लोगों की पूरी जानकारी ली तथा क्वारंटीन के नियमों पर विस्तार से चर्चा की। डाॅ. ऋचा वर्मा ने कहा कि जिला में बाहरी राज्यों से आए हजारों लोगों को विभिन्न क्वारंटीन केंद्रों पर रखा गया है। इनमें से कई लोग 14-14 दिन की क्वारंटीन अवधि पूरी कर चुके हैं और अपने घर जा चुके हैं। गोआ, महाराष्ट्र, मुंबई, दिल्ली और देश के अन्य क्षेत्रों से कुल्लू आए हजारों लोगों में से केवल दो ही कोरोना पाॅजीटिव निकले हैं। इनमें से भी एक पूरी तरह ठीक है और अपने घर जा चुका है।

उपायुक्त ने ग्रामीणों से कहा कि किसी व्यक्ति को क्वारंटीन पर रखने का यह मतलब नहीं है कि वह कोरोना संक्रमित है। दरअसल बाहरी राज्य, विशेषकर रैड जोन से आए व्यक्ति में संक्रमण की आशंका के चलते उसे एहतियात के तौर पर 14 दिन के क्वारंटीन पर रखना बहुत जरूरी है। इससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।

उपायुक्त ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति क्वारंटीन की अवधि पूरी करके अपने गृह क्षेत्र में पहुंचता है तो उससे अन्य लोगों को कोई भी खतरा नहीं हो सकता है। ऐसे लोगों के साथ किसी भी तरह का भेदभाव या दुव्र्यवहार नहीं होना चाहिए। डाॅ. ऋचा वर्मा ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति होम क्वारंटीन पर रखा गया है तो उसे घर पर पूरी सावधानी बरतनी चाहिए। उसे अपने परिवार के अन्य सदस्यों से पूरी तरह अलग-थलग रहना चाहिए। वह घर के ऐसे अलग कमरे में रहे, जहां अन्य परिजनों का आना-जाना न हो। उसे अलग शौचालय तथा बाथरूम का प्रयोग करना चाहिए। उसका तौलिया, बर्तन, बिस्तर और दैनिक उपयोग का सामान भी अलग ही होना चाहिए। उसे मास्क, सेनिटाइजर और हैंडवाॅश का नियमित प्रयोग करना चाहिए। उपायुक्त ने कहा कि मास्क, सेनिटाइजर और साबुन या हैंडवाॅश के नियमित उपयोग तथा सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए हम कोरोना को पूरी तरह नियंत्रित कर सकते हैं।

इस अवसर पर मणिकर्ण के बेबो राम, बजौरा की सरिता, शमशी की शालिनी, गरोट की उमावती देवी, अंबेदकरनगर के सुंदर बग्गा के साथ बातचीत के दौरान उपायुक्त ने इनके क्षेत्रों में क्वारंटीन पर रखे लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त की। इसी प्रकार दुर्गा दास, किरण कुमार, प्रदीप ठाकुर, अरुणा, यान चंद, एमएस ठाकुर, पवन और कई अन्य लोगों ने भी उपायुक्त के साथ सीधी बात की तथा अपने-अपने क्षेत्रों में क्वारंटीन की व्यवस्थाओं की जानकारी दी। उन्होंने इस सीधे संवाद के प्रति काफी उत्सुकता दिखाई तथा इस पहल के लिए उपायुक्त का धन्यवाद भी किया।

Next Story

हमीरपुर