Top
हमीरपुर

डॉ. सुदेश वीडियो कॉल के माध्यम से सुन रहे चार माह की बिटिया की किलकारियां

25 April 2020 1:51 AM GMT
डॉ. सुदेश वीडियो कॉल के माध्यम से सुन रहे चार माह की बिटिया की किलकारियां
x

हमीरपुर में कोरोना संक्रमण की रोकथाम में सभी कोरोना योद्धा दृढ़ संकल्प एवं पूरी तन्यमता के साथ अपने दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग में तैनात डॉक्टर, नर्स, सहयोगी स्टाफ से लेकर सफाई कर्मचारी एवं सुरक्षा कर्मी अग्रणी रूप से इसमें अपनी भूमिका निभा रहे हैं।राधास्वामी चेरिटेबल अस्पताल भोटा में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को रखा गया है। उनकी देखभाल के लिए कोरोना योद्धा के रूप में डॉक्टर एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी दिन-रात कार्य कर रहे हैं। छह-छह घंटों के चरण में सभी लोग मानवता की सेवा में लगे रहते हैं। एक सप्ताह की ड्यूटी के उपरांत 14 दिनों के लिए पूरा स्टाफ क्वारंटीन हो रहा है, जिसके लिए जिला प्रशासन की ओर से कोरोना प्रोटोकॉल के अनुरूप परिधि गृह व होटल हमीर में व्यवस्था की गई है। यहां उनके स्वास्थ्य की भी लगातार निगरानी की जाती है। इस तरह से सभी लोग लगभग एक माह तक अपने परिजनों एवं शुभचिंतकों से दूर अवश्य हैं, मगर मानवता की सेवा में एक उदाहरण प्रस्तुत करते हुए अपनी जिम्मेवारियों को बखूबी निभा रहे हैं।

पहले चरण में डॉ. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कॉलेज, हमीरपुर के सीनियर रेजिडेंट (रेडियो डायग्नोसिस) डॉ. सुदेश कुमार से लेकर वार्ड बॉय शुभम शर्मा सहित सभी स्टाफ नर्स व सफाई व सुरक्षा कर्मियों का सराहनीय कार्य रहा है और अब वे सभी संगरोध में हैं।

ऊना के अम्बोटा गांव के मूल निवासी डॉ. सुदेश के घर में माता-पिता और पत्नी तथा एक चार माह की बिटिया है। सभी परिजन गांव में ही हैं। लॉकडाऊन से पहले ही घर जाना हुआ था और वीडियो कॉल के माध्यम से ही अब बेटी की किलकारियां सुनने को मिलती हैं। वे कहते हैं कि एक बार जब हमने आरसीएच भोटा में प्रवेश किया तो मन में किसी भी प्रकार का संशय नहीं था और सभी ने अपनी बेहतर सेवाएं देने का प्रयास किया है।

दूसरे चरण में ड्यूटी दे रहे ऑर्थो सर्जन डॉ. गौरीदत्त, डॉ. संजीव कृष्णन, सीनियर रेजिडेंट (जनरल सर्जरी) डॉ. विकास सिंह, सुरक्षा कर्मी संदीप प्रकाश, श्रीमती शर्मिला चौहान, श्रीमती सपना स्टाफ नर्स, सुश्री देवी आरती स्टाफ नर्स सहित अन्य चिकित्सक, स्वास्थ्य, सफाई एवं सुरक्षा कर्मी इत्यादि शामिल हैं। इनकी सहायता के लिए वार्ड सिस्टर (नर्सिंग सिस्टर) व फार्मासिस्ट के अतिरिक्त परिवहन के लिए चालक भी सेवारत हैं।

उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा ने कहा कि अग्रिम मोर्चों पर कार्य कर रहे यह सभी कोरोना योद्धा इस महामारी की रोकथाम में प्रयासरत जिला व स्थानीय प्रशासन, सभी विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों और जिला वासियों के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं।

Next Story