Top
ऊना

पुलिस को चकमा देकर चोर रास्ते से ऊना पहुंचे 21 बिहारी मजदूर

30 July 2020 4:00 AM GMT
पुलिस को चकमा देकर चोर रास्ते से ऊना पहुंचे 21 बिहारी मजदूर
x

ऊना में चोर रास्ते से करीब 21 बिहार निवासी मजदूरों के प्रदेश में घुस आने का मामला सामने आया है। हालाँकि सभी मजदूरों को एक बस में बैठा कर हिमाचल की सीमाओं से बाहर कर दिया गया है लेकिन इस प्रकार से इन मजदूरों का बिहार से चलकर प्रदेश की सीमा में घुस आना एक सवालिया निशान जरुर खड़ा करता है।

ऐसा बताया जा रहा है कि इन मजदूरों को कोई अज्ञात ऑटो चालक चोर रास्ते से हिमाचल की सीमाओं के अंदर छोड़कर चले गए थे। वहीं पुलिस ने भी दो कदम आगे निकलते हुए मामले की जांच करने की बजाय सभी मजदूरों को एक बस में बैठा कर हिमाचल की सीमाओं से बाहर कर डाला। बिहार से चलकर ऊना की सीमाओं में चोरी से प्रवेश करने वाले इन मजदूरों का मामला सामने आने के बाद जिला भर में हड़कंप मच गया है। वहीं, प्रशासन और पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी उंगली उठनी शुरू हो गई है।

जानकारी के मुताबिक बिहार के 21 मजदूर हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना में गुरुवार को किसी चोर रास्ते से पहुंच गए। मजदूरों ने बताया कि वे गाड़ियों में पहले दिल्ली, उसके बाद चंडीगढ़ और फिर पंजाब के नंगल पहुंचे। जहां से ऑटो चालकों ने उन्हें किसी चोर रास्ते से ऊना में पहुंचा दिया जिसकी भनक ऊना पुलिस को लग गई। इस पर ऊना पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए इन मजदूरों को बस में ले जाकर मैहतुपर बैरियर के बाहर छोड़ दिया। ये मजदूर किस चोर रास्ते से प्रदेश में प्रवेश कर गए इसकी जानकारी अभी पुलिस को भी नहीं है। वहीं, अब इस मामले को लेकर पुलिस का अगला रूप क्या होगा यह अभी स्पष्ट नहीं है वहीं यह मजदूर कितना समय ऊना में रहे, कितने लोगों से यह मिले इसको लेकर भी अभी तक कोई भी तथ्य सामने नहीं आ पाया है। फिलहाल यह सभी पहलू जांच के दायरे में आ चुके हैं। वहीं, इनमें से कोई मजदूर यदि कोरोना संक्रमित भी निकलता है तो ये भी किसी बड़ी मुसीबत को बुलावा हो सकता है।

घटना के बाद जिला भर में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गए हैं। यदि ये मजदूर प्रदेश में अवैध रूप से प्रवेश कर चुके थे तो इन पर कार्रवाई करते हुए इन्हें संस्थागत क्वारंटाइन करना चाहिए था। फिर संबंधित राज्य की पुलिस व प्रशासन को इस बात की सूचना देनी चाहिए थी, लेकिन पुलिस ने इन मजदूरों को अपनी राज्य सीमा से बाहर करके फिलहाल अपना पीछा छुड़ा लिया है। प्रवासी मजदूरों की मानें तो वो बिहार से आए है और उन्हें चंबा जाना है। वहीं ऑटो चालक उन्हें किस रास्ते से ऊना जिला में लाए इसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

वहीं एएसपी ऊना विनोद धीमान ने भी माना कि यह गंभीर मामला है। एएसपी ऊना ने कहा कि पुलिस इस मामले की जांच करेगी कि यह प्रवासी किस रास्ते से ऊना में प्रवेश किये है क्योंकि ऊना जिला को आने वाले रास्तों पर पुलिस की कड़ी चौकसी है। एएसपी ने कहा कि अगर कोई चोर रास्ता होगा तो उसे शीघ्र बंद करवाया जायेगा।

Next Story