Top
चंबा

प्रशासन द्वारा जारी किए गए कर्फ्यू पास ने बनाई सब्जी उत्पादक की राह आसान

4 May 2020 6:07 AM GMT
प्रशासन द्वारा जारी किए गए कर्फ्यू पास  ने  बनाई  सब्जी उत्पादक की राह आसान
x

चंबा जिला में संजीव कुमार जैसे कई ऐसे किसान और बागवान हैं जिन्हें प्रशासन द्वारा जारी किया गया कर्फ्यू पास उनके व्यवसाय और व्यवसाय से जुड़ी गतिविधियों को चलाने में मददगार साबित हो रहा है। चंबा उपमंडल के भनौता गांव के सब्जी उत्पादक हैं संजीव कुमार। खेतों में फसल तैयार थी लेकिन लॉक डाउन के चलते ये पसोपेश थी कि सब्जियां ग्राहकों तक कैसे पहुंचेंगी। सरकार द्वारा इस दिशा में लिए गए फैसलों के बाद जिला प्रशासन ने भी किसानों को सुविधाएं देने का रोडमैप तैयार किया। उपायुक्त एवं जिला मजिस्ट्रेट विवेक भाटिया के मार्गदर्शन में तैयार इस मार्गदर्शिका को कृषि विभाग ने अमलीजामा पहनाने का जो बीड़ा उठाया वह आज किसानों की रोजमर्रा की मुश्किलों को हल करने की दिशा में अहम साबित हो रहा है। संजीव कुमार बताते हैं कि उन्होंने अपनी समस्या को कृषि विभाग के उपनिदेशक तक पहुंचाया और विभाग ने भी प्रशासन से उसके लिए पास जारी करने में पूरी तत्परता बरती। पास उसके लिए मददगार साबित हुआ और वह अपनी सब्जियों को होम डिलीवरी के माध्यम से बेचने में कामयाब रहा। संजीव कुमार की तरह ही जिला में सैकड़ों ऐसे किसान हैं जो प्रशासन की इस व्यवस्था के साथ जुड़कर लाभान्वित हो रहे हैं।

उपायुक्त विवेक भाटिया ने कहा कि विशेषकर कृषि, बागवानी और पशुपालन विभाग यह सुनिश्चित करें कि नियमों और एहतियातों की आवश्यक अनुपालना के साथ जिले के किसानों, बागवानों और पशुपालकों को अपनी गतिविधियों को अंजाम देने में दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। उन्होंने कहा कि इस समय निचले क्षेत्रों में गेहूं कटाई का कार्य चल रहा है। जिला में 19050 हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं की खेती की जाती है। उन्होंने बताया कि इस सीजन में 36000 मीट्रिक टन गेहूं के उत्पादन का अनुमान है। विवेक भाटिया ने यह भी कहा कि किसानों द्वारा सब्जियों की जो फसलें तैयार की जा रही हैं उन्हें जिले की मण्डी और जिले के बाहर की मंडियों को ले जाने के लिए भी वाहन पास जारी किए गए।अब तक पूरे जिले से 3200 क्विंटल मटर मंडियों तक पहुंचाया जा चुका है। जिला में 103 किसानों को हार्वेस्टिंग और थ्रेशिंग के पास भी जारी हो चुके हैं और प्रक्रिया चल रही है।

उन्होंने बताया कि खरीफ सीजन में किसानों को बीज व अन्य जरूरतें उपलब्ध के लिए कृषि विभाग द्वारा 16 विक्रय केंद्र स्थापित किए गए हैं। इसके अलावा जिला में कृषि विभाग द्वारा अधिकृत 42 निजी लाइसेंस धारक भी हैं जो अपने-अपने क्षेत्रों के किसानों को बीज व अन्य आवश्यक सुविधाएं मुहैया कर रहे हैं।

कृषि विभाग द्वारा किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया गया है ताकि वे अपने घर द्वार से ही व्हाट्सएप संदेश के माध्यम से कृषि अधिकारी से संपर्क बनाए रख सकें। उपायुक्त ने जिला के किसानों, बागवानों और पशुपालकों को कहा कि वे कोरोना वायरस के चलते सभी जरूरी एहतियातों पर अमल करते हुए अपनी गतिविधियों को अंजाम दें।

Next Story