Top
मंडी

बचपन से किडनी रोग से पीड़ित था सरकाघाट क्षेत्र का युवक

5 May 2020 8:14 PM GMT
बचपन से किडनी रोग से पीड़ित था सरकाघाट क्षेत्र का युवक
x

मंगलवार को मंडी जिले के सरकाघाट के कोरोना पॉजिटिव 21 वर्षीय युवक ने आईजीएमसी शिमला में दम तोड़ दिया। जिसके चलते प्रदेश में कोरोना से मौत का आंकड़ा 2 हो गया है। मंडी के सरकाघाट क्षेत्र का ये युवक बचपन से किडनी रोग से पीड़िता था। उसका दिल्ली के एम्स में उपचार चल रहा था। मार्च में वह उपचार के लिए दिल्ली गया था और लॉकडाउन होने से वहां फंस गया था। उसका पिता नोएडा में एक निजी कंपनी में चालक है। युवक पहली मई को मां के साथ घर लौटा था। घर पहुंचने के बाद प्रशासन ने उसे होम क्वारंटाइन कर कर दिया था। आशा वर्कर उसके स्वास्थ्य पर नजर रख रही थी। सोमवार को अचानक सांस लेने में दिक्कत होने पर उसे नागरिक अस्पताल सरकाघाट पहुंचाया गया। चिकित्सकों ने हालत नाजुक होने पर उसे नेरचौक मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। यहां उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था।

कोरोना के लक्षण दिखने पर चिकित्सकों ने उसका सैंपल लिया था। रात को युवक की किडनी में ज्यादा दिक्कत होने पर चिकित्सकों ने उसे आइजीएमसी शिमला रेफर कर दिया। मंगलवार को वहां उसकी मौत हो गई। नेरचौक के बाद आइजीएमसी शिमला में भी उसके दूसरे सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। किडनी रोग की वजह में युवक की रोग प्रतिरोधक क्षमता न के बराबर रह गई थी। रक्त की कमी होने पर डायलिसिस की जरूरत पड़ गई थी। युवक का उपचार करने वाले चिकित्सक, नर्स व अन्य स्टाफ को क्वारंटाइन कर दिया है।

अस्पताल परिसर को भी सैनिटाइज किया गया है। युवक का अंतिम संस्कार कैसे व कहां होगा प्रशासन इसका फैसला बुधवार को करेगा। युवक दिल्ली से लौटने के बाद किससे मिला था प्रशासन इसकी जांच कर रहा है।

बरहाल प्रदेश में 472 संदिग्ध लोगों के सैंपल लिए गए है, जिसमें से 414 लोगों की रिपोर्ट नैगेटिव आई है। वहीं 51 लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट आना बाकी है। कोरोना वायरस को लेकर अभी तक 7898 लोगों के की जांच हो चुकी हैं, जिसमें से 7543 लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट नैगेटिव आई है। इसके अलावा अभी तक 15777 लोगों को जरूरी निगरानी अवधि में रखा गया था, जिसमें से 6831 लोगों ने 28 दिन जरूरी निगरानी के पूरे कर लिए है और 8946 निगरानी में चल रहे है। प्रदेश के अस्पतालों में कोरोना वायरस के 2 मरीजों का उपचार चल रहा है। इनमें एक मरीज का उपचार नेरचौक मंडी और दूसरे का ईएसआई काठा अस्पताल में चल रहा है। अभी तक हिमाचल में कुल कोरोना के 42 मामले सामने आए हैं।

Next Story

हमीरपुर