Top
मंडी

बुजुर्ग सौजू राम के लिए वरदान बना ‘सर्व-संकल्प’ कार्यक्रम

4 May 2020 9:12 PM GMT
बुजुर्ग सौजू राम के लिए वरदान बना ‘सर्व-संकल्प’ कार्यक्रम
x

मंडी जिला प्रशासन का ‘सर्व-संकल्प’ कार्यक्रम 90 वर्षीय बुजुर्ग सौजू राम के लिए किसी वरदान सरीखा ही साबित हुआ है। उपमंडल मंडी सदर की ग्राम पंचायत सेगली के दुर्गम गांव फिन्डू पाधर के सौजू राम को प्रशासन की टीम ने उनके घर में जरूरत की दवाइयां तो पहुंचाईं ही, पैंशन की टैंशन का भी निपटारा कर दिया। काबिले जिक्र है कि कोेविड-19 से बचाव के लिए जारी लॉक डाउन के बीच मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के निर्देशों की अनुपालना में मंडी जिला प्रशासन ने वरिष्ठ नागरिकों व दिव्यांगजनों की सहायता के लिए ‘सर्व-संकल्प’ कार्यक्रम आरम्भ किया है।

आपसी तालमेल पर आधारित है मदद का पूरा तंत्र

अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग इस पहल के बारे में बताते हैं कि इसके जरिए जिला में सभी पंचायतों एवं शहरी निकायों में दिव्यांगजनों व वरिष्ठ नागरिकों को विभिन्न जरूरी सेवाएं घरद्वार पर उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इस कार्यक्रम को प्रशिक्षित ‘सर्व’ स्वयंसेवियों (सर्व-सोशल इमरजेंसी रिस्पॉंस वालंटीयर्स) की मदद से चलाया जा रहा है । वे बताते हैं कि जिला में वार्ड स्तर से लेकर प्रशासनिक अमले तक आपसी तालमेल पर आधारित मदद का पूरा तंत्र विकसित किया गया है। जिला रैडक्रॉस सोसायटी इसमें नोडल एजेंसी का काम कर रही है और अनेक लोग इस सेवा से लाभान्वित हो रहे हैं।

दवाईयों की थी दरकार, पैंशन को लेकर भी दिक्कतें

जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव ओ.पी.भाटिया फिन्डू पाधर गांव के 90 वर्षीय बुजुर्ग सौजू राम की समस्या के समाधान का पूरा वाक्या साझा करते हुए बताते हैं कि सौजू राम को वृद्धावस्था की समस्याओं से जुड़ी कुछ दवाइयों की दरकार थी। साथ ही आधार कार्ड न होने से पैंशन को लेकर भी दिक्कतें थीं। सौजू राम की धर्मपत्नी का 45 वर्ष पूर्व स्वर्गवास हो चुका है, बेटियों की शादी हो गई है और वर्तमान में वह अपने घर में अकेले रह रहे हैं।

सर्व स्वयंसेवी ने दी जानकारी

ओ.पी.भाटिया बताते हैं कि सेगली पंचायत के नोडल सर्व स्वयंसेवी दिले राम जब अपने क्षेत्र में सभी बुजुर्गों व दिव्यांगजनों से संपर्क कर डाटा तैयार कर रहे थे तब सौजू राम से संपर्क इुआ और उनकी दिक्कतों का पता चला। दिले राम ने रेडक्रॉस सोसायटी को इस बारे जानकारी दी।

भाटिया बात को जारी रखते हुए बताते हैं कि रेडक्रॉस सोसायटी ने चिकित्सा विशेषज्ञों से परामर्श कर सौजू राम के लिए आवश्यक दवाएं खरीदीं। उन्होंने खुद अपनी टीम के साथ सड़क से लगभग 8 किलोमीटर पैदल रास्ता तय कर ये दवाएं सौजू राम को उनके घर में दीं। इस दौरान सौजू राम के चेहरे पर तैरते प्रसन्नता के भाव बहुत संतोष देने वाले थे।

मुख्यमंत्री का जताया आभार कहा.. ग्रामीणों के जीवन में नया भरोसा जगा है

ओ.पी. भाटिया ने बताया कि सौजू राम ने इसके लिए विशेष तौर पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार जताया । जिला प्रशासन का धन्यवाद किया। कहा कि सरकार की योजनाओं की सुविधा लोगों को घर द्वार पर मिलने से दुर्गम क्षेत्रों में ग्रामीणों के जीवन में नया भरोसा जगा है।

तीन महीने की पैंशन एकमुश्त

भाटिया ने बताया कि सौजू राम से बातचीत करने पर पता चला कि उनके पास आधार कार्ड नहीं है, जिस कारण उन्हें पैंशन प्राप्त करने में दिक्कत आ रही है। जिला प्रशासन ने मुख्य डाकपाल मंडी से बात कर इस समस्या का तुरंत हल निकाला और सौजू राम को पिछले तीन माह की पैंशन (4500 रुपए) एकमुश्त उपलब्ध करवाई गई। उनका कहना है कि लॉकडाउन की समाप्ति के बाद सौजू राम का आधार कार्ड भी उनके घर में ही बनाया जाएगा। आधार कार्ड बनने से भविष्य में सरकार की योजनाओं का लाभ भी सौजू राम को निरन्तर मिलता रहेगा। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के तहत सर्व स्वयंसेवी जिलेभर में बुजुर्गों और दिव्यांगजनों से संपर्क कर रहे हैं और उनकी जरूरत के अनुरूप सेवा उपलब्ण करवाने में जुटे हैं।

Next Story