Top
कुल्लू

भुंतर के संगम स्थल पर पधारे थे भगवान श्री कृष्ण भगवान ,पदम् पुराण में उल्लेख

14 Jun 2020 6:39 AM GMT
भुंतर के संगम स्थल पर पधारे थे भगवान श्री कृष्ण भगवान ,पदम् पुराण में उल्लेख
x

श्री राम जन्मभूमि अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए जिला कुल्लू से जाने वाले पवित्र मिट्टी एवं जल की सूची में भगवान राधा कृष्ण मंदिर भुंतर का भी अहम योगदान होगा। विश्व हिंदू परिषद के मार्गदर्शन मंडल सदस्य एवं श्री राधा कृष्णा मंदिर भुंतर के प्रभारी आदरणीय श्री स्वामी रामसरण दास ने बताया कि यह मंदिर व्यास एवं पार्वती संगम स्थल की पवित्र धरा पर स्थित है। जहां स्वयं श्री कृष्ण जी ने पांडवों के साथ समय बिताया था। उन्होंने कहा की पदम पुराण में वर्णन है की इस पावन धरती पर भगवान श्री कृष्ण स्वयं पधारे थे, जिन्होंने पांडवों के साथ एक रात्रि यहां बिताई थी। उन्होंने कहा कि महाभारत में भी इसका उल्लेख है। वही घाटी में पांडवों द्वारा निर्मित कई दार्शनिक व ऐतिहासिक स्थान है जो कि वैदिक काल से यहां मौजूद है ।

उन्होंने कहा कि बजौरा का शिव मंदिर इसका जीता जागता उदाहरण है। रामशरण दास ने कहा कि राजस्व विभाग के रिकॉर्ड में भी यह उल्लेख है कि वृंदावन बिहाल फाटि शमशी, कोठी खोखन में स्थित संगम स्थल पर भगवान राधा कृष्ण का मंदिर विराजमान है। उन्होंने कहा कि गर्व की बात है इस मंदिर की पवित्र मिट्टी एवं जल भगवान श्री राम जी के अयोध्या में निर्मित होने वाले भव्य मंदिर का हिस्सा होंगे। देवभूमि के पवित्र स्थानों की मिट्टी एवं जल को विश्व हिंदू परिषद के सदस्यों को सौंपते हुए स्वामी रामचरण दास ने कहा की सैकड़ों वर्षो से भव्य राम मंदिर का सपना राम भक्तों ने देखा है।

Next Story

हमीरपुर