Top
ऊना

मुख्यमंत्री ने ऊना जिला के पंचायत प्रतिनिधियों से ली फीडबैक

12 May 2020 7:39 AM GMT
मुख्यमंत्री ने ऊना जिला के पंचायत प्रतिनिधियों से ली फीडबैक
x

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज जिला ऊना की विभिन्न ग्राम पंचायतों के पंचायत प्रतिनिधियों के साथ कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों और अन्य विकास कार्यों बारे फीडबैक ली। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर भी ऊना से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े और उनके साथ डीसी ऊना संदीप कुमार, जिला पंचायत अधिकारी ऊना रमण कुमार शर्मा भी साथ रहे। ऊना मुख्यालय से ग्राम पंचायत जखेड़ा के प्रधान महेंद्र छिप्पर, रैंसरी के प्रधान परस राम, लोअर अरनियाला के अशोक कुमार, जनकौर के जगदेव सिंह भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े। ग्राम पंचायत रैंसरी के प्रधान परस राम ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को बताया कि उन्होंने पंचायत में 55 प्रवासी परिवारों को राशन उपलब्ध करवाया और 100 राशन के पैकेट प्रशासन को दिए हैं। उन्होंने मनरेगा के कार्यों के बारे में भी मुख्यमंत्री को जानकारी दी।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सबसे पहले कुटैलहड़ विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत पिपलू के प्रधान विपन शर्मा से फीडबैक ली। जिस पर प्रधान विपन शर्मा ने बताया कि लॉकडाऊन लगते ही पूर्ण पंचायत में कोरोना वायरस से बचाव हेतु मास्क वितरित किए गए और ग्रामीणों को इसके लक्षणों और बचाव बारे जागरूक किया गया। इसके अलावा संकट की इस घड़ी में बेसहारा व जरूरतमंद लोगों की मदद हेतु समृद्ध लोगों से अंशदान एकत्रित कर मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करवाया गया।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा बाहर से आए लोगों के बारे में जानकारी मांगने पर प्रधान विपन शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन लागू होने के बाद पंचायत में बाहर फंसे 18 लोगों ने प्रवेश किया। इन लोगों को उन्होंने होम क्वारंटाइन के दिशा निर्देशों की शत प्रतिशत अनुपालना सुनिश्चित करने हेतु जागरूक किया गया। विकास कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए प्रधान ने बताया कि सरकार द्वारा अनुमति प्रदान करने के उपरांत गांव में भी मनरेगा के तहत विकास कार्य आरंभ किए गए, जिससे कई कामगारों को पुन: रोजगार प्राप्त हुआ। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बाहर से आने वाले लोगों के साथ संवेदनशील व्यवहार करने का आहवान किया है।

Next Story