Top
मंडी

लोक निर्माण विभाग के ठेकेदारों के कारनामे, गरीब के घर को पैदा कर दिया खतरा

31 July 2020 9:26 PM GMT
लोक निर्माण विभाग के ठेकेदारों के कारनामे,  गरीब के घर को पैदा कर दिया खतरा
x

सराज विधानसभा क्षेत्र के उपमंडल थुनाग में लोक निर्माण विभाग के सड़क मार्ग जरोल- गुशाणा के गांव गुशाणा में गरीब परिवारों की बस्ती से होते हुए एक गरीब व्यक्ति हरि सिंह पुत्र मोहर सिंह का मकान इस सड़क मार्ग की चपेट में आ चुका है जहां लोक निर्माण विभाग के ठेकेदारों ने घर की सुरक्षा हेतु डंगे के कार्य को अधूरा कार्य छोड़ दिया है । परिवार से मिली जानकारी के अनुसार कि जब सड़क बनाया गया था तब से लेकर के आज तक उनसे कोई भी एनओसी तक नहीं ली है मगर अब जब उनका मकान गिरने जा रहा है तब कोई भी उनके लिए सहयोग नहीं कर रहा है। इस बरसात के मौसम में वर्तमान समय में यहां स्लाइडिंग हो रही है जिससे कभी भी रात या दिन यह मकान गिर सकता है और जानमाल का भारी नुकसान भी हो सकता है।
पीड़ित परिवार के सदस्यों ने बताया कि वह कई बार लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों के संपर्क में गए हालांकि लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता जंजैहली के कार्यालय में भी कई बार गए और अपनी आपबीती सुनाई मगर विभाग के अधिकारियों ने इस पर कोई भी सुध नहीं ली।

क्या कहते हैं लोक निर्माण विभाग के एसडीओ

इस मामले संबंधी जानकारी हमने एसडीओ लोक निर्माण विभाग जंजैहली दीवान चंद से हासिल की तो उन्होंने बताया कि उन्हें इस संबंध में पूरी जानकारी नहीं है वह मामले की जांच करेंगे हालांकि उन्हें हमने इस पूरी घटना का वीडियो भी व्हाट्सएप पर भेजा मगर फिर भी साहब मैं इस पर स्पष्ट जवाब नहीं दिया।

क्या कहते हैं अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग जंजैहली

इस मामले संबंधी जानकारी हासिल करने के लिए हमने अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग जंजैहली केके कौशल से टेलिफोनिकली कुछ दिन पहले वार्ता की थी तो उन्होंने बताया कि उनके पास व्हाट्सएप के माध्यम से जो वीडियो आया था उन्होंने इस पर अपने विभाग के एसडीओ तथा अन्य अधिकारियों से बातचीत की है और इस कार्य पर ध्यान दिया जाएगा मगर विभाग की तरफ से पिछले लगभग 15 दिनों से कोई भी कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है जिस कारण अब इस घर के आंगन से स्लाइडिंग हुई है और अब मकान जाने की भी पूरी तैयारी है।

पीड़ित परिवार जनों ने मीडिया को अपनी आपबीती सुनाते हुए बताया कि वे कई बार लोक निर्माण विभाग के कार्यालयों में दर-दर की ठोकरे खा चुके हैं जहां उनकी किसी ने नहीं सुनी है। यदि उनके मकान को किसी तरह की क्षति पहुंचती है तो लोक निर्माण विभाग के अधिकारी ही उसके जिम्मेदार माने जाएंगे।

Next Story