Top
चंबा

होबारड़ी खड्ड के तेज़ बहाव की चपेट में आये चार बच्चे, ग्रामीणों ने सुरक्षित निकाला बहार

10 Jun 2020 5:31 AM GMT
होबारड़ी खड्ड के तेज़ बहाव की चपेट में आये चार बच्चे, ग्रामीणों ने सुरक्षित निकाला बहार
x

जिला चंबा के भटियात से होकर गुजरने वाली होबारड़ी खड्ड में आए उफान से चार बच्चों की जान पर बन आई । खड्ड को पार करते ये बच्चे तेज बहाव की चपेट में आ गए जिसके बाद लगभग एक घंटे तक चली मौत से जंग के बाद सभी बच्चों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। इनमें एक बच्ची को बेहोशी की हालत में चुवाड़ी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

उधर, इस घटना से हर कोई सन्न है। जानकारी के अनुसार बनेट पंचायत के तलाई नामक गांव से चार बच्चे कुड्डी पंचायत में अपने ननिहाल जा रहे थे। वे जैसे ही खड्ड को पार करने लगे,तो अचानक उसमें बाढ़ आ गई। इससे पहले कि बच्चे कुछ समझ पाते कि पानी ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया।

इस दौरान तीन बच्चे कुछ दूरी पर पत्थरों में जा फंसे,जबकि चौथी बच्ची 100 मीटर दूर नीचे बह गई। इसी बीच खड्ड के पास मवेशी चरा रहे गडरिए की नजर बच्चों पर पड़ गई। उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। कुछ समय के बाद वहां दर्जनों ग्रामीण जमा हो गए,कोई रस्सी ले आया,तो कोई खड्ड से बच्चों को बचाने का प्रयास करने लगा,लेकिन बहाव इतना तेज था कि काफी समय तक बच्चों के पास पहुंचना संभव नहीं हो पाया। ग्रामीण पत्थरों में फंसे बच्चों का लगतार हौसला बढ़ाते रहे। कुछ देर के बाद रस्सी को पानी में डाला गया। और रस्सी के सहारे सभी बच्चों को बाहर निकाला गया। तीन बच्चे सहमे हुए थे,लेकिन ठीक थे,जबकि अंजना नाम की चौथी बच्ची बेहोश हो गई थी। उसे चुवाड़ी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

उधर अंबाह पंचायत प्रधान सुखलाल की अगवाई में दर्जनों ग्रामीणों ने बताया कि होबारड़ी खड्ड पर लंबे समय से पुल नहीं बन पा रहा है। पुल के पिल्लर तो बन गए हैं,लेकिन स्लैब नहीं डाला गया है। उन्होंने सरकार से मांग उठाई है कि शीघ्र इस दिशा में उचित कदम उठाए जाएं। गौर रहे कि होबारड़ी खड्ड बनेट और कुड्डी दोनों को जोड़ती है।

बता दें, बीते कुछ दिनों से भीषण गर्मी के प्रकोप के बाद बुधवार को प्रदेश में ने अपना मिजाज बदला। बुधवार सुबह बारिश से लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली है। सुबह धर्मशाला शहर व धौलाधार से सटे क्षेत्र में मूसलाधार बारिश हुई। शिमला सहित प्रदेश में कई जगह बादल छाए रहे। मौसम विभाग ने भी प्रदेश में कुछ जगह बारिश की संभावना जताई ​थी। मौसम विशेषज्ञों का कहना है गुरुवार से मौसम ज्यादा खराब रहेगा। कांगड़ा, चंबा, कुल्लू, मंडी और शिमला के लिए 40 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने व ओलावृष्टि का यलो अलर्ट जारी किया गया है।

Next Story