Top
मंडी

होम क्वारंटाइन परिवारों को होम डिलीवरी सेवा से हो रही जरूरी सामान की आपूर्ति, प्रशासन ने हर उपमंडल में किए हैं पुख्ता इंतजाम

7 May 2020 8:24 AM GMT
होम क्वारंटाइन परिवारों को होम डिलीवरी सेवा से हो रही जरूरी सामान की आपूर्ति, प्रशासन ने हर उपमंडल में किए हैं पुख्ता इंतजाम
x

अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि मंडी जिला में होम क्वारंटाइन में रह रहे सभी परिवारों को होम डिलीवरी सेवा के जरिए जरूरी सामान की आपूर्ति की जा रही है। प्रशासन ने इसके लिए हर उपमंडल में पुख्ता इंतजाम किए हैं। उन्होंने कहा कि पंचायतों व शहरी निकायों को सर्व वालंटीयर और अन्य स्वयंसेवियों की मदद से उन परिवारों की सभी जरूरतों का ख्याल रखने को कहा गया है। संबंधित एसडीएम ने भी उनकी मदद के लिए और होम डिलीवरी के जरिए जरूरी सामान की आपूर्ति के लिए हैल्पलाईन नंबर लोगों से साझा किए हैं। इसके अलावा लोग जिला आपदा प्रबंधन केंद्र के नंबरों पर भी संपर्क कर सकते हैं।
इन नंबरों पर कर सकते हैं संपर्क
उन्होंने कहा कि लोग जरूरी सामान की आपूर्ति और अन्य जरूरतों के लिए संबंधित उपमंडल के हैल्पलाईन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।
बल्ह उपमंडल के हैल्पलाईन नंबर 9418048236, सदर मंडी के हैल्पलाईन नंबर 8894226207 और 7018030861, करसोग उपमंडल के हैल्पलाईन नंबर 9816240225 और 9817039278, जोगिंदरनगर उपमंडल के 7876224450 व 01908223895, सरकाघाट उपमंडल के 8629880797, धर्मपुर उपमंडल के हैल्पलाईन नंबर 8091055548, पधर के हैल्पलाईन नंबर 9418030373, थुनाग के 9418061012, सुंदरनगर के 7018257960 और गोहर उपमंडल के हैल्पलाईन नंबर 01907-250262, 9817210200 व 8219719495 के साथ ही गोहर उपमंडल के तहत आने वाले बालीचौक क्षेत्र के लोग हैल्पलाईन नंबर 8219391583 पर संपर्क कर सकते हैं।
इसके अलावा जिला आपदा प्रबंधन केंद्र के टोल फ्री नंबर 1077 या 1905-226201,202,203 और 204 पर भी संपर्क किया जा सकता है।
समुदाय-समाज भी समझे जिम्मेदारी
आशुतोष गर्ग ने मंडी जिलावासियों से होम क्वारंटाइन का पालन कर रहे सभी परिवारों की आगे बढ़कर मदद करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि जब इन परिवारों ने पूरे समुदाय की भलाई के लिए खुद को होम क्वारंटाइन में सीमित किया है, तब समाज की भी उनके प्रति जिम्मेदारी बनती है। जरूरी है हम सब उनकी रोजमर्रा के कामों से जुड़ी मदद को आगे आएं। गांव में पशुओं के चारे की चिंता हो या फसल के अन्य काम हों, इसके लिए आस-पड़ोस व पंचायत सहायता करे। उन्हें घरद्वार पर सभी जरूरी सेवाएं व सुविधाएं मुहैया करवाई जाएं। हम हेाम क्वारंटाइन का ठीक से पालन तय बनाने में सहयोगी बनें।
कोरोना को हराने की ये साझी लड़ाई है, सब मिलकर जीतेंगे
उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने की ये लड़ाई सबकी साझी लड़ाई हैं इसे सब मिलकर कर जीतेंगे। संकट के समय में जरूरी सावधानियों का ठीक तरीके से पालन करने में एक दूसरे की मदद कर हम इस लड़ाई में विजयी होंगे।
आशुतोष गर्ग ने दोहराया कि मंडी जिला में अब बाहरी राज्यों से आए व्यक्तिों के साथ साथ उनके घर में रह रहे सभी सदस्यों को भी 14 दिन होम क्वारंटाइन में रहना अनिवार्य किया गया है। प्रशासन ने कोरोना संक्रमण के खतरे से पूरे समुदाय-समाज की सुरक्षा के लिए यह फैसला लिया है।
उन्होंने कहा कि ऐसे में जरूरी है कि जब बाहरी राज्यों एवं अन्य रैड जोन से आए लोग व उनका परिवार होम क्वारंटाइन में हैं, तब आस पड़ोस व समाज उनकी मदद को आगे आएं।

Next Story

हमीरपुर