Top
कुल्लू

21 जून को सूत्रधार मनाएगा 43वीं वर्षगांठ

13 Jun 2020 2:57 AM GMT
21 जून को सूत्रधार मनाएगा 43वीं वर्षगांठ
x

कला संस्कृति के संरक्षण व संबर्धन के साथ-साथ सदैव समाज सेवा के क्षेत्र में कार्यरत संस्था सूत्रधार 21 जून को अपनी 43वीं वर्षगांठ मनाने जा रही है। जिसकी तैयारियों को लेकर संस्था के अध्यक्ष दिनेश सेन की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई।

गौरतलब है कि सूत्रधार कला संगम विगत 43 वर्षों से कला संस्कृति के संरक्षण व संबर्धन के साथ-साथ सदैव समाज सेवा के साथ साथ जिला में आपदा के समय भी लोगों का सहयोग करती आ रही है। वहीं संस्था द्वारा जिला कुल्लवी संस्कृति की छटा जिला, प्रदेश व देश ही नही बल्कि विदेशों में भी बिखरने में अहम भूमिका रही है। बैठक के बारे जानकारी देते हुए संस्था अध्यक्ष दिनेश सेन ने बतलाया कि हमारी संस्था “सूत्रधार कला संगम” 21 जून 2020 को अपने 43 वर्ष पूर्ण करने जा रही है । गत वर्षो से संस्था अपने वर्षगांठ उत्सव पर स्थानीय पाठशालाओं की रंगारंग सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं का आयोजन करती आ रही है, किन्तु इस वर्ष वैश्विक महामारी (COVID-19) के कारण यह प्रतियोगिता करवाना हमारे लिए संभव नही है, इसलिए हमारी संस्था पूरे प्रदेश में गायन व नृत्य क्षेत्र में प्रतिभावान व्यक्तियों के प्रोत्साहन के लिए इस वर्ष 43वें सूत्रधार वर्षगांठ उत्सव में एकल गायन तथा एकल नृत्य की राज्य स्तरीय ओपन ऑनलाइन प्रतियोगिता आगामी दिनों में करवाने जा रही है, जिसमें विजेता प्रतिभागियों को आकर्षक नगद इनामों से भी नवाजा जायेगा ।

यह प्रतियोगिता केवल हिमाचल प्रदेश के कलाकारों के लिए रहेगी तथा प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु प्रवेश निशुल्क रहेगा । यह प्रतियोगिता दो वर्गों कनिष्ठ वर्ग (21 जून 2020 तक 15 वर्ष आयु) तथा वरिष्ठ वर्ग (16 वर्ष से अधिक आयु) के व्यक्तियों के लिए रहेगी । इस ऑनलाइन राज्य स्तरीय प्रतियोगिता की सूचना प्रदेश वासियों को सोशल मिडिया के माध्यम से हमारे Facebook पेज तथा YouTube चैनल “सूत्रधार कला संगम” पर दी जाएगी । बैठक में संस्था अध्यक्ष दिनेश सेन सहित वरिष्ठ उपाध्यक्ष यनिद्र कपूर, उपाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह, महासचिव सुंदर श्याम, वित्त सचिव विजय गोयल, प्रैस सचिव राजेश शानु, नाटक प्रभारी अतुल गुप्ता, सचिव मोनिका सागर, भण्डार प्रभारी तिलक राज चौधरी, संगीत सह प्रभारी प्रदीप कपूर, वित्त सह सचिव जोगिंदर सिंह, आधुनिक नृत्य प्रशिक्षक सुरेश बौध तथा प्रबन्धक उत्तम चन्द उपस्थित रहे।

Next Story

हमीरपुर