Top
चंबा

2230 क्विंटल मटर की सब्जी को जिले के बाहर की मंडियों में भेजा

24 April 2020 4:45 AM GMT
2230 क्विंटल मटर की सब्जी को जिले के बाहर की मंडियों में भेजा
x

कोरोना महामारी के चलते लॉकडाऊन में कृषि विभाग द्वारा कृषि कार्यों के लिए सरकार के फैसले और जिला प्रशासन के दिशा निर्देशों के मद्देनजर चम्बा जिले में किसानों को अब विभिन्न सुविधायें मुहैया की जा रही हैं। कृषि उपनिदेशक सुरेश शर्मा ने बताया कि उपायुक्त विवेक भाटिया के मार्गदर्शन में किसानों के लिए एक विशेष मार्गदर्शिका को तैयार किया गया है जो किसानों को कृषि सम्बन्धी गतिविधियों के संचालन में मदद करने का एक कारगर माध्यम है।

उन्होंने कहा कि कृषि एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें निरन्तरता बनाए रखना कोरोना के चलते एक चुनौतीपूर्ण कार्य था क्योंकि हर कृषि कार्य एक तय समय पर होता है और इस काम में विलंब भी नहीं किया जा सकता।

कृषि विभाग के सामने इस समय मुख्यतः तीन चुनौतियां हैं। जिनमें किसानों के उत्पाद खास कर सब्जियों को मण्डी तक समय पर पहुंचाना, रबी फसलें जैसे गेहूं , जौ एवं सरसों की कटाई एवं गहाई और

खरीफ फसलों की बिजाई के लिए बीज व अन्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करना शामिल है।

सरकार और उपायुक्त विवेक भाटिया के निर्देशों पर इस परिदृश्य में सब्जियों को मण्डी तक पहुचाने के लिए किसानों को विशेष कर्फ्यू पास जिला प्रशासन के माध्यम से उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उपायुक्त विवेक भाटिया रोजाना इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

पास को बनाने के लिए किसान के आवेदन व्हाट्सएप के जरिए लिए जा रहे हैं और अनुमति भी किसानों को ऑनलाईन ही भेजी जा रही है।

कृषि उपनिदेशक ने बताया कि जिले के बाहर की मंडियों के लिए उत्पाद ले जाने के लिए उपायुक्त कार्यालय के माघ्यम से करीब 30 गाड़ियों को पास दिये जा चुके हैं। इस माध्यम से 4 अप्रैल से 24 अप्रैल तक 2230 क्विंटल मटर की सब्जी को जिले के बाहर की मंडियों में भेजा जा चुका है। कुछ किसान स्थानीय स्तर पर भी सब्जियों की बिक्री कर रहे हैं जिले के भीतर सब्जियों को मण्डी तक पहुचाने के लिए भी के माघ्यम से भी पास दिये जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के चलते लॉकडाऊन में सामाजिक दूरी व मास्क पहनकर मटर की फसल का तुड़ान किसानों द्वारा किया जा रहा है।

सुरेश शर्मा ने कहा कि रबी फसलों की कटाई एव गहाई 25 अप्रैल से शुरू होने की उमीद है। इसमें गेहूं की 19000 हैक्टेयर, जौ की 3000 हैक्टेयर और सरसों की लगभग 900 हैक्टेयर क्षेत्र में कटाई होनी है। इसके लिए किसानों को कोविड -19 से अपना पूरा बचाव करते हुए विभाग द्वारा तैयार की गई मार्गदर्शिका का अनुपालन करने की भी सलाह दी गई है।

किसान एक गांव से दूसरे गांव तक ट्रेक्टर, थरैशर या मजदूर लाने के लिए कृषि उपनिदेशक चम्बा को कर्फ्यू पास बनाने के लिए व्हाट्सएप नम्बर 94181-21914 पर अपना आवेदन भेज सकते हैं। किसान बीज खरीदने के लिए भी यह पास बनवा सकतें हैं।

खरीफ फसलों की बिजाई के लिए निवेश सामग्री की उपलब्धता सुनिशचित की जा रही है । विभाग से निवेश सामग्री खरीदने के लिए विभाग के 16 विक्रय केंद्र खुले रखे गए हैं। इसके इलावा खरीफ फसलों के बीज कृषि विभाग के डिपो होल्डरों से भी खरीद सकते हैं। जिले में विभाग द्वारा करीब 2000 क्विंटल मक्की का हाईब्रिड बीज बाहरी राज्यों से विशेषकर तेलंगाना एवं आन्ध्र प्रदेश से आना शुरू हो चुका है। हर दिन 100-200 क्विंटल बीज चम्बा जिला को मिल रहा है और आने वाले दो हफ्तों में इसकी आपूर्ति कर दी जाएगी। ऊंचे क्षेत्रों में मक्की की बीजाई शुरू हो रही है। इसको देखते हुए 200 क्विंटल बीज इन क्षेत्रों को भेजा जा चुका है। उन्होंने ये भी बताया कि अब तक 25 किसानों और 4 बीज विक्रेताओं को कर्फ्यू पास दिए जा चुके हैं और प्रक्रिया निरंतर जारी है।

Next Story