Top
चंबा

दिल्ली सरकार की तर्ज पर हिमाचल सरकार भी दे, दो महीने का मुफ्त राशन व ऑटो-टैक्सी चालकों,दिहाड़ीदार को पांच हजार

ManMahesh
4 May 2021 9:44 AM GMT
दिल्ली सरकार की तर्ज पर हिमाचल सरकार भी दे, दो महीने का मुफ्त राशन व ऑटो-टैक्सी चालकों,दिहाड़ीदार को पांच हजार
x

डलहौज़ी हलचल (चंबा) : आम आदमी पार्टी प्रवक्ता सलीम मुहम्मद ने आज प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए सरकार से मांग की है सरकार मौजूदा समय में जबकि कोरोना महामारी की दूसरी व भयानक लहर चल रही है तो सूबे के लोगों को आर्थिक सहायता का प्रावधान किया जाए , ताकि सूबे में लोगों को हो रही दिक्कतों से सामना करने मैं कोई मुश्किल न हो।पूरा देश आज इस महामारी से झूज रहा है और जिसमे हिमाचल भी अछूता नही रहा है, और सूबे के मुखिया सिवाए जनता की ओर ध्यान दें वे अपने नए उड़नखटोले की यात्रा में मशगूल हैं ,और समय व पैसा दोनों बर्बाद कर रहे हैं। साथ ही सूबे की जनता को यह कभी भी नही भूलना चाहिए कि 5 लाख 10 हज़ार रुपये प्रति घण्टे के तर्ज पर खर्च करने वाले हेलीकॉप्टर नही बल्कि जनता को इस समय अस्पताल में वेहतर सुबिधा के साथ ऑक्सीजन ,वेंटिलेटर ,दवाइयों आदि की सख्त जरूरत है न कि इस तरह के हेलीकॉप्टर जो कि महामारी के दौरान आमजन पर आफत बन उड़ रहा है केंद्र के साथ साथ प्रदेश भाजपा ने अपनी आंखें महामारी के दौरान हो रही इस तरह की पैसों की खपत पर पूरी तरह बन्द कर रखी हैं ।

आज यदि प्रदेश दूसरी बार लोकडाउन की स्थिती में जाता है तो हिमाचल के हर बेरोजगार वर्ग के साथ-साथ निजी वाहन चालकों व मजदूरों को आर्थिक सहायता देनी अति-अनिवार्य है क्योंकी सूबे के लोग अभी पहली बार मे लगे लॉक डाउन से ऊपर नही उठ पाएं है इस महामारी के दौरान हिमाचल प्रदेश में बेरोजगारी की संख्या 15 लाख को पार कर चुकी है जिसका मतलब सीधा है कि 75 लाख की इस आबादी बाले प्रदेश में लगभग हर घर मे एक बेरोजगार है और इस स्तिथि में सूबे के मुखिया को शीघ्र अति शीघ्र राहत पैकेज की घोषणा करनी चाहिए ताकि बेरोजगारी व महामारी के कारण पैदा हुए हालातों से कुछ हद तक निजात मिल सके । मौजूदा सरकार को अपने अड़ियल स्वाव से हट कर आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार से सीख लेने की जरूरत है जो कि हर ,निजी वाहन चालक ,मजदूरों, व बेरोजगारों के साथ हर समय खड़ी है।दिल्ली सरकार ने राहत पैकेज में 5000 रुपये प्रति व्यक्ति व राशन देने की घोषणा करके तुरंत साथ ही अमल में लाया गया है। और दूसरी तरफ अब तक हिमाचल प्रान्त की सरकार खुद एक निर्णय भी नहीं कर पा रही और केंद्र की ओर टकटकी लगाए बैठी है ।साथ ही सूबे की जनता को भी इस बात से अब सबक लेना चाहिए व यह भी समझना चाहिए कि इस बुरे वक़्त के दौरान हेलीकॉप्टर जरूरी था या स्वस्थ्य सुविधाओं का वेहतर होना । अतः आने वाले समय मे इसका ध्यान रखे और डबल इंजन सरकार को बाहर का रास्ता दिखाया जाए।

इस वक़्त समूचे प्रदेश की जनता सदमे में है कि उनका आने बाला समय कैसा होगा कैसा नही ।जहां एक तरफ कोरोना के कारण आए दिन मौत का तांडव बढ़ता जा रहा है और सूबे के मुखिया की चुप्पी साधे केंद्र की ओर ताके जा रहै हैं । आम आदमी पार्टी प्रवक्ता सलीम मोहमद ने सीधे सवाल में पूछा है कि अब तक सरकार ने सूबे की जनता के लिए इस महामारी से निजात पाने के लिए क्या कदम उठाए हैं ? आज महामारी के साथ साथ व्यापारिक वाहनों जैसे बसों व टेक्सी चालकों की हड़ताल जो की टैक्स को लेकर की गई है वो दिखा रही है हिमाचल सरकार ने किसी तरह से महामारी के दौर में लोगों को लूटने से कसर नही छोड़ी है ज्ञात रहे कि अब तक सरकार प्राइवेट स्कूलों की फीस को लेकर भी कोई निर्णय नही कर पाई है । आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश सूबे में अपनी सामर्थ्य के अनुसार हर जिले में अपने वॉलेंटर के साथ जनता के हर सम्भव सहायता के लिए प्रसाशनिक आदेशों के अनुसार जुटी है। साथ आम आदमी पार्टी ने जनता से भी अपील की है कि इस महामारी काल पर घर पर रहे और सुरक्षित रहें । बिना किसी कारण बाहर जाने से व भीड़ बाले इलाके से दूरी बना कर रखे ।


Next Story

हमीरपुर