Top
काँगड़ा

मुनै गांव में आसमानी बिजली गिरने से भेडपालक की 275 भेड़-बकरियों की मौत

ManMahesh
11 Jun 2021 1:37 AM GMT
मुनै गांव  में आसमानी बिजली गिरने से भेडपालक की 275 भेड़-बकरियों की मौत
x
गऊशाला पर भी गिरी आसमानी बिजली, गाय की माैत, मालकिन बुरी तरह झुलसी

डलहौज़ी हलचल (काँगड़ा) : वीरवार दोपहर बाद जिला कांगड़ा में मूसलधार बारिश के ओलावृष्टि हुई। इससे लोगों को गर्मी से राहत तो मिली है लेकिन नुकसान भी खासा हुआ है। तेज आंधी चलने से जिले के अधिकतर क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। साथ ही बिजली गिरने से 275 भेड़-बकरियों की मौत हो गई और एक महिला झुलस गई है।

पालमपुर उपमंडल के तहत कंडबाड़ी क्षेत्र के मुनै गांव निवासी भेड़पालकों की करीब 275 भेड़-बकरियां मर गई हैं। बिजली गिरने से भेड़पालकों को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। आजकल भेड़पालक अपनी बकरियों को ऊपरी पहाड़ियों में लेकर गए हैं। बिजली गिरने से चार भेड़पालकों थोथी राम, संतोष कुमार निवासी ग्वालटिक्कर और कुलदीप सिंह व पप्पू निवासी बंदला की करीब 350 भेड़ बकरियों में से 275 की मौत हो गई है। पीड़ित लोगों ने ग्वालटिक्कर गांव पहुंचकर इस बाबत सूचना प्रशासन को दी। बंदला निवासी कुलदीप सिंह ने बताया कि एसडीएम पालमपुर को सूचित कर दिया है। उन्होंने सरकार से प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान का मुआवजा देने की मांग की है।

उधर, आसमानी बिजली गिरने से भेड़-बकरियों के मरने की घटना पर दुख प्रकट करते हुए हिमाचल प्रदेश वूल फैडरेशन के चेयरमैन त्रलोक कपूर ने पालमपुर के एस.डी.एम. धर्मेश रामोत्रा से आग्रह किया कि प्रशासन और पशुपालन विभाग को एक संयुक्त टीम ले तुरंत घटनास्थल पर जाकर स्थिति का जायजा ले और प्रभावित भेड़पालक को नुक्सान का उचित मुआवजा दिया जाए।

इसके अलावा तियारा पंचायत के वार्ड सात की 60 वर्षीय महिला समस्या देवी की पशुशाला में बिजली गिरने से गाय की मौत हो गई है। साथ ही समस्या देवी भी झुलस गई है। पंचायत प्रधान बेबी कुमारी व उपप्रधान अशोक कुमार ने बताया कि घायल महिला को सिविल अस्पताल कांगड़ा में भर्ती करवाया है। इसके अलावा जिले के अन्य हिस्सों में भी नुकसान हुआ है।


Next Story

हमीरपुर