Top
काँगड़ा

जरूरतमंद लोगों तक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना प्रदेश सरकार प्राथमिकता: हंस राज

ManMahesh
19 Aug 2020 12:22 PM GMT
जरूरतमंद लोगों तक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना प्रदेश सरकार प्राथमिकता: हंस राज
x
विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज ने कहा कि प्रदेश सरकार ‘‘सबका साथ, सबका विकास ’’ के मंत्र के साथ आगे बढ़ रही है। जरूरतमंद लोगों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचे यही प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है।

डलहौज़ी हलचल (धर्मशाला) : विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज ने कहा कि प्रदेश सरकार ''सबका साथ, सबका विकास '' के मंत्र के साथ आगे बढ़ रही है। जरूरतमंद लोगों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचे यही प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सरकार उन्नति और विकास के नये कीर्तिमान स्थापित कर रही है। प्रदेश के सभी वर्गों के लिए कई जनकल्याण योजनाएं चलाई जा रही हैं। विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज आज बुधवार को वर्चुअल रैली के माध्यम से धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के लोगों को सम्बोधित कर रहे थे।



उन्होंने कहा कि प्रदेश में 70 वर्ष से अधिक आयु के 2.85 लाख से अधिक वृद्धजन 1500 रुपये मासिक पेंशन प्राप्त कर रहे हैं। विधवाओं व दिव्यांगजनों की सामाजिक सुरक्षा पेंशन को भी बढ़ाकर 1000 रुपये प्रतिमाह किया गया है। वृद्धजनों को सम्मान देते हुए सामाजिक सुरक्षा पेंशन पाने की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया तथा इसमें कोई आय सीमा भी नहीं रखी गई है।

विधानसभा उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना की तर्ज पर 'हिमकेयर' नाम से एक महत्वाकांक्षी योजना आरम्भ की है, जिसके तहत पंजीकृत परिवार के पांच सदस्य 5 लाख रुपये तक प्रतिवर्ष निःशुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ उठा रहे हैं। योजना में अब तक 5.50 लाख परिवार पंजीकृत हो चुके हैं व लगभग एक लाख से भी ज्यादा रोगी योजना के तहत अपना उपचार करवा चुके हैं, जिस पर 92 करोड़ रुपये से भी ज्यादा व्यय हुए हैं। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को आर्थिक सहायता के लिए सहारा योजना आरम्भ की है, जिसके तहत पात्र रोगियों को 2000 रुपये प्रतिमाह की दर से वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है। अब तक 9078 लाभार्थियों को 5.90 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता वितरित की जा चुकी है। इस राशि को बढ़ाकर 3000 रुपये प्रतिमाह करने का निरर््िय लिया गया है।


उन्होंने कहा कि हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के तहत 2.78 लाख से भी अधिक महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाकर उनकी जीवनशैली में बदलाव लाया गया है। ऐसी पहल करने वाला यह प्रदेश अग्रणी राज्य बन गया है। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना ने बड़े स्तर पर युवाओं को स्वरोजगार अपनाने को प्रेरित किया है। योजना के तहत 40 लाख रुपये के निवेश पर 25 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। महिलाओं को 30 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। अब तक 5486 ऋण मामले विभिन्न बैंकों को प्रेषित किए जा चुके हैं, जिनमें से 1715 मामले स्वीकृत किए गए हैं। 946 इकाइयां स्थापित भी की जा चुकी हैं, जिसके लिए 44 करोड़ रुपये की सब्सिडी भी प्रदान की जा चुकी है। प्रदेश के युवा रोजगार तलाशने की बजाए रोजगार प्रदाता बन रहे हैं।

उन्होंने कहा ग्रामीण स्तर पर मनरेगा के अंतर्गत व्यक्तिगत कार्यों को बढ़ावा देने के लिए 'मनरेगा समग्र' कार्यक्रम कारगर साबित हुआ है। जिसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में खेती, बागवानी, पशु पालन एवं मछली पालन की गतिविधियों को सुदृढ़ करने के लिए व्यक्तिगत कार्याें को बढ़ावा दिया गया है। 'मनरेगा समग्र' सक्रिय रूप से लाभार्थियों तक मनरेगा का लाभ पहुंचाने की भावना से प्रेरित है।

उन्होंने कहा कि फसलों को जंगली जानवरों से बचाने में मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना भी वरदान सिद्ध हुई है। अब तक लगभग 2600 किसानों ने लाभ उठाया है, जिस पर 80.36 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं से मुख्य फसलों को हुए नुकसान का मुआवजा देने के लिए करोड़ों रुपये की राशि व्यय की जा रही है।



उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना व मुख्यमंत्री आवास योजना सहित अन्य सभी योजनाओं को बड़े प्रभावशाली ढंग से कार्यान्वित किया जा रहा है, जिसके परिणामस्वरूप इस प्रदेश को राष्ट्र स्तरीय पुरस्कार प्राप्त हो रहे हैं। कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा समय पर उठाए गए प्रभावशाली कदमों के कारण नागरिकों के जीवन की रक्षा हो पाई है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत देश के गरीब परिवारों को नवम्बर, 2020 तक मुफ्त राशन की सुविधा, महिलाओं के जन-जन खातों में सीधे वित्तीय सहायता, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को मुफ्त में तीन सिलेंडर, कामगारों व किसानों को दो-दो हजार रुपये की किश्तें प्रदान करना जैसे बड़े राहत भरे कदम उठाए गए, जिससे सभी वर्ग के लोगों को संकट की घड़ी में राहत मिली है। उन्होंने लोगों से कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए मंत्र 'दो गज की दूरी है बेहद जरूरी' का पालन करें तथा सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए मास्क, सेनिटाइजर आदि का प्रयोग करें।

इससे पूर्व धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया ने विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज का स्वागत किया। उन्होंने धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र में चल रही विभिन्न विकास योजनाओं के लिए करोड़ों रुपये स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश दिन दौगुनी तरक्की की और अग्रसर है।

वर्चुअल रैली में जिला अध्यक्ष चंद्र भूषण नाग, जिला प्रभारी कांगड़ा जय सिंह, भाजपा नेता मनोज रत्न, मंडल अध्यक्ष अनिल चौधरी, एसडीएम धर्मशाला डॉ.हरीश गज्जू, बीडीओ अभिनीत कात्यान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और विधानसभा क्षेत्र धर्मशाला के लोग अपने-अपने क्षेत्र से जुड़े रहे।


Next Story