Top
कुल्लू

अब काजा में होंगे अब कोविड टेस्ट , प्रशासन ने स्थापित की मशीन

रजनीश शर्मा
18 Aug 2020 12:07 PM GMT
अब काजा में होंगे अब कोविड टेस्ट , प्रशासन ने स्थापित की मशीन
x
पहले आईजीएमसी भेजी जाते थे सैंपल दो वेंटिलेटर भी किए स्थापित जनजातीय क्षेत्र के हजारों लोगों को मिलेगी सुविधा

डलहौज़ी हलचल (काज़ा) : हिमाचल प्रदेश के जिला लाहौल स्पीति के स्पीति के लोगों के अब कोबिड टेस्ट सैंपल आईजीएमसी में नहीं होंगे बल्कि स्पीति में ही हुआ करेंगे। स्थानीय प्रशासन ने कोविड सैंपल टेस्ट लेने की मशीन मंगलवार को स्थापित कर दी है। मशीन स्थानीय सीएचसी अस्पताल काजा में लगाई गई हैं। लोगों को अपनी कोबिड टेस्ट की रिपोर्ट सीएचसी काजा अस्पताल में ही अब मिल जाए करेगी । उन्हें आईजीएमसी से रिपोर्ट आने का इंतजार करना नहीं पड़ेगा। सूचना सूचना प्रौद्योगिकी, तकनीकी शिक्षा, जनजातीय विकास एवं जन शिकायत निवारण मंत्री डां रामलाल मार्कडेय ने कोविड टेस्ट सैंपल मशीन खरीदने के आदेश प्रशासन को दिए थे।।इसी के बाद मशीन खरीदी गई ।

पहले आईजीएमसी भेजते थे सैंपल

स्पीति क्षेत्र के सभी कोविड टेस्ट सैंपल आईजीएमसी शिमला भेजे जाते थे। ऐसे में सैंपल सही सलामत आईजीएमसी पहुंचाना चुनौती भरा काम होता था। कई बार यातायात मार्ग अवरूद्ध होने के कारण सैंपल पहुंचाने में देरी भी हो जाती थी। तो कई बार सैंपल बीच रास्ते में ही खराब होने का डर होता था। ऐसी परिस्थिति में दोबारा सैंपल लेना पड़ता था ।

करीब साढ़े चोदह लाख रुपए की मशीन

स्थानीय प्रशासन ने गोभी टेस्ट के लिए जो मशीन खरीदी है उसकी लागत करीब 14 लाख 56 हजार रुपए की आसपास है इस मशीन को ट्रूनेट क्वांटेटिव माइक्रो पीसीआर कहा जाता है। इस मशीन में एक बार 4 सैंपल टेस्ट कर सकते हैं इसमें चार कार्टेज लगी होती है।

दो वेंटिलेटर किए स्थापित

ख्वाजा अस्पताल में दो वेंटिलेटर भी स्थापित किए गए हैं इसमें से एक मीडियम साइज वेंटिलेटर है जबकि दूसरा पोर्टेबल बेल्ट वेंटिलेटर है। इसे आसानी से एक बेड से दूसरी बेड तक ले जाया जा सकता है । ऐसे में अब ऑक्सीजन की दिक्कत भी अस्पताल में नहीं आएगी।

अब काजा में होंगे टीवी के टेस्ट भी

स्थापित की गई नई मशीन में क्रोना सैंपल की टेस्टिंग ही नहीं होगी बल्कि टीवी के टेस्ट भी हो पाएंगे पहले टीवी के टेस्ट के सैंपल रिकांग पिओ भेजे जाते थे ऐसे में अब स्थिति क्षेत्र के हजारों लोगों को यह सुविधा काजा अस्पताल में ही मिलेगी।

स्थानीय निवासी सुशील बौद्ध ने कोविड टेस्ट मशीन लगाने के लिए स्थानीय प्रशासन का विशेष आभार व्यक्त किया है। स्थानीय निवासी नवांग छैरींग ने प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इससे स्पिती के लोगों को काफी सुविधा मिलेगी।

बीएमओ तेनजिंग नोरबू ने बताया कि कॉपी टेस्ट सैंपल की मशीन काजा में स्थापित होने से जहां यहां के लोगों को सुविधा मिलेगी वही यहां से सैंपल आईएमसी भेजने पर होने वाले खर्च में भी कमी आएगी बर्फबारी के दिनों में यहां पर रास्ते कई बार अवरूद्ध भी रहते हैं तो ऐसी स्थिति में सैंपल को पहुंचाना काफी चुनौती भरा होता है। इस मशीन में टीवी, बलगम के टेस्ट भी हो पाएंगे। इस मशीन में चार सैंपल एक साथ टेस्ट हो सकते है ।

एडीएम ज्ञान सागर नेगी ने कहा कि यहां के लोगों में डर बना था कि बरसात के मौसम में किस तरह सैंपल भेजे जाएंगे। इसी के चलते प्रशासन ने कोविड टेस्ट मशीन स्थापित कर दी है ताकि लोगों को यही सुविधा मिल सके। इसके अलावा दो वेंटिलेटर भी स्थापित किए है। यहां अभी तक कोरो ना मुक्त है। फिर भी प्रशासन के पास सारे इंतजाम है।


Next Story

हमीरपुर