Top
शिमला

भूकंप के तेज झटकों से उत्तर भारत सहित हिमाचल की धरती थर्राई

ManMahesh
13 Feb 2021 3:37 AM GMT
भूकंप के तेज झटकों से उत्तर भारत सहित हिमाचल की धरती थर्राई
x

डलहौज़ी हलचल (शिमला) : उत्तर भारत में शुक्रवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए जिसका असर हिमाचल प्रदेश में भी देखने को मिला. प्रदेश के अधिकांश जिलों में शुक्रवार रात 10:34 से 10:36 बजे के बीच भूकंप के दो से तीन झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.1 आंकी गई है। पहले खबर आई कि भूकंप का दूसरा केंद्र पंजाब के अमृतसर के पास था। नेशनल सेंटर फॉर सेस्मोलॉजी की ओर जानकारी दी गई कि अमृतसर में रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.1 दर्ज़ की गई है। लेकिन बाद अमृतसर में भकूंप के केंद्र होने की बात से मौसम विभाग ने इनकार कर दिया।

उधर मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि उत्तर भारत में आए हुए भूकंप के झटकों को हिमाचल में भी महसूस किया गया। उन्होंने बताया कि अभी जानमाल के नुकसान की कहीं से भी कोई सूचना नहीं है। हमीरपुर, सोलन, सिरमौर, ऊना, कांगड़ा, कुल्लू, चंबा, शिमला, बिलासपुर आदि जिलों में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार 5 मिनट की अवधि में दो भूकंप आए। भूकंप का इसका पहला केंद्र ताजिकिस्तान रहा और दूसरा केंद्र पंजाब का अमृतसर रहा। ताजिकिस्तान में भूकंप की तीव्रता 6.3 रही, जबकि अमृतसर में 6.1 तीव्रता मापी गई।

कांगड़ा जिले में भूकंप के झटके काफी देर तक लगते रहे। लोग डर के मारे घरों ओर होटलों से बाहर भाग आए। घरों के अंदर सामान जब हिलने लगा तो लोगों को भूकंप का अहसास हुआ। कांगड़ा में भूकंप के दो झटके महसूस हुए। धर्मशाला के विक्रम, बलराम संदीप और साक्षी ने बताया कि भूकंप आने के बाद कुछ समय तक पंखे हिलते रहे। केंद्रीय विवि जम्मू में तैनात एवं धर्मशाला कॉलेज में रहे वरिष्ठ भू-वैज्ञानिक सुनील धर ने बताया कि जिला कांगड़ा भूकंप के लिहाज से बेहद संवेदनशील है। यही वजह है कि इस जोन में बार-बार भूकंप के छोटे झटके लगते रहते है।

भूकंप आने पर क्या करें?

  • भूकंप आने के बाद अगर आप घर में हैं तो कोशिश करें कि फर्श पर बैठ जाएं।
  • या फिर अगर आपके घर में टेबल या फर्नीचर है तो उसके नीचे बैठकर हाथ से सिर को ढक लेना चाहिए।
  • भूकंप आने के दौरान घर के अंदर ही रहें और जब झटके रुकने के बाद ही बाहर निकलें।
  • भूकंप के दौरान घर के सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें।


Next Story

हमीरपुर