Top
शिमला

मोबाइल से तस्वीरें लेकर व्हाट्सएप पर वायरल कर दिया पेपर, टीम ने पकड़ा

ManMahesh
18 Oct 2020 1:35 PM GMT
मोबाइल से तस्वीरें लेकर व्हाट्सएप पर वायरल कर दिया पेपर, टीम ने पकड़ा
x
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल पथ परिवहन निगम में कंडक्टरों की भर्ती के लिए आयोजित परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में कड़ा संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं।

डलहौज़ी हलचल (शिमला) : रविवार को प्रदेशभर में कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से कंडक्टर भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन किया गया। शिमला के एपी गोयल विवि सेंटर से कंडक्टर भर्ती परीक्षा देने पहुंचे अभ्यर्थी ने मोबाइल से तस्वीरें लेकर पेपर व्हाट्सएप पर आगे भेज दिया। अभ्यर्थी ने कितने लोगों के व्हाट्सएप पर पेपर आगे भेजा इसकी छानबीन जारी है। मामले की जांच एसडीएम को सौंपी गई है।

पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सोलन में भी एक अभ्यर्थी को परीक्षा हाल में मोबाइल के साथ पकड़ा गया। एक ने अभ्यर्थी ओएमआर शीट भी सोशल मीडिया पर वायरल की है। कर्मचारी चयन आयोग ने दावा किया है कि पेपर लीक नहीं हुआ है। शिमला में पेपर वायरल करने वाला अभ्यर्थी तीन साल तक कोई परीक्षा नहीं दे पाएगा। सोलन के आरोपी अभ्यर्थी को भी अपात्र घोषित किया गया है।

बता दें कि 762 पदों के लिए कंडक्टर भर्ती परीक्षा 304 परीक्षा केंद्रों में आयोजित की गई, जिसमें करीब 60,000 अभ्यर्थियों ने भाग लिया। इसके बारे में हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग के सचिव जितेंद्र कंवर का कहना है कि परीक्षा केंद्र में अभ्यर्थी द्वारा मोबाइल ले जाने का मामला सामने आया है, लेकिन समय रहते मामला पकड़ में आने के कारण पेपर लीक नहीं हुआ है। उन्हें सूचना 11 बजे मिली थी और तत्काल परीक्षा केंद्र के असिस्टैंट को-आर्डिनेटर को कड़ा संज्ञान लेने के निर्देश दे दिए थे। संबंधित अभ्यर्थी पर मामला दर्ज करवाने के साथ केंद्र अधीक्षक पर भी कमीशन कार्यवाही करेगा।

उधर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल पथ परिवहन निगम में कंडक्टरों की भर्ती के लिए आयोजित परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में कड़ा संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख़्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि लिखित परीक्षाएं पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से आयोजित की जाएं ताकि भविष्य में इस तरह की कोई घटना घटित न हो।


Next Story