Top
राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री मोदी ने आत्मनिर्भर भारत पर दिया जोर, किये कई बड़े ऐलान

ManMahesh
15 Aug 2020 4:39 AM GMT
प्रधानमंत्री मोदी ने आत्मनिर्भर भारत पर दिया जोर, किये कई बड़े ऐलान
x
कोरोना काल में देश आज 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7वीं बार लालकिले पर झंडा फहराया। उन्होंने अपने 86 मिनट के भाषण में आत्मनिर्भर, आत्मनिर्भर भारत, कोरोना संकट, आतंकवाद, रिफॉर्म, मध्यमवर्ग और कश्मीर का विशेष रूप से जिक्र किया।

कोरोना काल में देश आज 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7वीं बार लालकिले पर झंडा फहराया। उन्होंने अपने 86 मिनट के भाषण में आत्मनिर्भर, आत्मनिर्भर भारत, कोरोना संकट, आतंकवाद, रिफॉर्म, मध्यमवर्ग और कश्मीर का विशेष रूप से जिक्र किया। उन्होंने आत्मनिर्भर भारत पर ज्यादा जोर दिया। इस शब्द का 30 बार इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि कोरोना इतनी बड़ी विपत्ति नहीं कि आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को रोक पाए। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कई बड़े ऐलान किए और भविष्य को लेकर कई बातें बताई। इसी बीच पीएम मोदी ने ऐलान किया कि केंद्र सरकार जल्द ही नई साइबर सुरक्षा नीति (New Cyber Policy) लाएगी। पीएम मोदी की ओर से ये ऐलान ऐसे समय में आया जब पूरी दुनिया के साइबर वर्ल्ड में कई तरह की चुनौतियां सामने आ रही हैं।

उन्होंने कहा कि अगले 1000 दिनों के भीतर 6 लाख से अधिक गांवों को फाइबर-ऑप्टिक नेटवर्क के साथ जोड़ा जाएगा। हम जल्द ही एक नई साइबर सुरक्षा नीति पेश करेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि डिजिटल इंडिया में ग्रामीण भारत और गांवों की भागीदारी आवश्यक है। हम तेजी से अपने ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क का विस्तार कर रहे हैं। यह 1,000 दिनों के भीतर प्रत्येक ग्राम पंचायत तक पहुंच जाएगा।

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि देश की प्रगति पिछले छह वर्षों में सभी क्षेत्रों में देखी गई है। इसमें हर घर को बिजली, रसोई गैस, गरीबों के लिए बैंक खाते बनाने या सभी घरों में शौचालय बनाने शामिल है। उन्होंने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि इंटरनेट और सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग बढने के साथ देश के लिए मजबूत समन्वित साइबर सुरक्षा व्यवस्था का होना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा 'साइबर सुरक्षा नीति' का खाका जल्द आएगा।

पीएम मोदी ने अंडमान नीकोबार द्वीप समूह की तरह लक्षद्वीप को भी समुद्री दूरसंचार केवल से जोड़ने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इससे वहां भी तीव्र गति की इंटरनेट सेवाएं मिलने लगेंगी।

भारत के 74वे स्वहतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना के असर को भी महसूस किया। उन्होंिने याद किया उन बच्चों के चेहरों को जो हर साल यहां दिखते थे। लेकिन इसके बाद उन्होंरने आश्वा सन दिया कि कोरोना वैक्सी न की की तैयारी पूरी तेजी पर है, वैज्ञानिकों के हरी झंड़ी दिखाते ही इसका उत्पा दन शुरू कर दिया जाएगा।

स्वूतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'हमारे वैज्ञानिक जी जान से जुटे हुए हैं। बड़ी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। भारत में तीन-तीन वैक्सीन टेस्टिंग के अलग-अलग चरण में है। वैज्ञानिकों से जब हरी झंडी मिल जाएगी और उसकी तैयारियां पूरी तरह तैयार है। तेजी से उत्पादन के साथ वैक्सीन हर भारतीय के पास कम से कम समय में कैसे पहुंचे उसका रूपरेखा भी तैयार है।

उन्होंसने कोरोना वॉरियर्स की तारीफ करते हुए कहा, 'कोरोना के इस असाधारण समय में, सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेको लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं।'




Next Story